Thursday, December 9, 2021
HomeRewariअहीरवाल के वीरों द्वारा लिखी गई शहादत की गाथा युवा शक्ति के...

अहीरवाल के वीरों द्वारा लिखी गई शहादत की गाथा युवा शक्ति के लिए प्रेरणास्रोत

डीसी यशेंद्र सिंह ने कहा कि रेजांगला शौर्य दिवस अहीरवाल क्षेत्र के वीर योद्धाओं की शहादत को समर्पित है और दुर्गम बर्फीली चोटी पर अहीरवाल के वीरों द्वारा लिखी गई शहादत की गाथा आज भी युवाओं के जहन में देशभक्ति की भावना जागृत कर रही है। डीसी यशेन्द्र सिंह गुरूवार को रेजांगला शौर्य दिवस के अवसर पर रेजांगला स्मृति स्थल पर पुष्पचक्र अर्पित कर अमर शहीदों को अपनी श्रद्घांजलि अर्पित कर रहे थे।

 

डीसी ने वीर शहीदों की शहादत को सलाम करते हुए कहा कि स्वतंत्रता सेनानी और शहीदों द्वारा दिए गए बलिदानों एवं कुर्बानियों की बदौलत ही हम सब आजादी अमृत महोत्सव मना रहे हैं। हमें देश के वीर सपूतों के त्याग व समर्पण से प्रेरणा लेते हुए इनके दिखाए मार्ग पर आगे बढना है और यही हमारी और से इन्हें सच्ची श्रद्धांजली होगी। उन्होंने कहा कि रेजांगला की लड़ाई का किस्सा हर भारतीय को सुनाना चाहिए ताकि हर भारतीय देश सेवा के प्रति हमेशा तैयार रहे।

 

उन्होंने कहा कि रेंजागला में सैनिकों ने मरते दम तक अपना धैर्य नहीं खोया ऐसे महान योद्धाओं पर हमें गर्व है। उन्होंने कहा कि चीनी आक्रमण के समय लद्दाख की बर्फीली चोटी पर स्थित रेजांगला पोस्ट पर हुए युद्ध की गौरवगाथा विश्व के युद्ध इतिहास में अद्वितीय है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments