रेवाड़ी डीसी ने CPR प्रशिक्षण जागरूकता वैन को झंडी दिखाकर किया रवाना, जिले के गांवों मे दी जाएगी CPR ट्रेनिंग

0
6
CPR

CPR: रेवाड़ी डीसी इमरान रजा ने शुक्रवार को भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी की हरियाणा शाखा की ओर से सीपीआर प्रशिक्षण अभियान के तहत चलाई गई सीपीआर प्रशिक्षण जागरूकता वैन को कैंप कार्यालय से झंडी दिखाकर जिला के गांवों में सीपीआर प्रशिक्षण देने के लिए रवाना किया। उन्होंने सरकार की इस पहल का स्वागत करते हुए बताया कि सीपीआर ट्रेनिंग वैन जिला में शुक्रवार को पांच गांवों में सीपीआर ट्रेनिंग दी गई।

CPR जागरूकता अभियान

शनिवार को भी 5 गांवों में सीपीआर बारे प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस अवसर पर डीसी इमरान रजा ने डमी पर सीपीआर तकनीक का प्रशिक्षण लेते हुए उनका अभ्यास भी करके देखा। उन्होंने बताया कि दुर्घटनावश, दिल का दौरा पड़ने पर, बेहोशी में सांस आना बंद हो जाए और दिल काम करना बंद दे, उस अवस्था में सीपीआर अर्थात हृदय गति को दोबारा से कैसे चलाएं की जानकारी सीपीआर (CPR) जागरूकता अभियान के माध्यम से लोगों को दी जा रही है।

उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि हर व्यक्ति को इस प्रकार का प्रशिक्षण लेना चाहिए। उल्लेखनीय है कि सीपीआर (CPR) प्रशिक्षण जागरूकता वैन को प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय द्वारा चंडीगढ़ से झंडी दिखाकर रवाना किया गया था। यह वैन प्रदेश के सभी जिलों को कवर करेगी। वैन में सीपीआर प्रशिक्षण से संबंधित हरियाणवी भाषा में एलईडी स्क्रीन पर लघु नाटिका भी दिखाई जा रही है।

CPR प्रशिक्षण बहुत ही महत्वपूर्ण प्रोग्राम : डीसी

डीसी इमरान रजा ने कहा कि सीपीआर देने के लिए डॉक्टर की जरूरत नहीं है आप इसे खुद दे सकते है। इसके लिए आपको सही तकनीक पता होना जरूरी है। आए दिन होने वाले अनेक एक्सीडेंट, बिजली का करंट, दम घुटने से, पानी में डूबने की वजह से कई लोग अपनी जान गंवा बैठते हैं। यदि सही समय पर सीपीआर दिया जाए तो कई लोगों की जान बच भी सकती है।

एक्सीडेंट या और कोई वजह से हृदय की गति रुक जाती है, सांस रुक जाती है तो उस गोल्डन पीरियड में यह तकनीक बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है। इससे इंसान की जान बचने की संभावना बनी रहती है। उन्होंने कहा कि सीपीआर प्रशिक्षण एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रोग्राम है।