Home रेवाड़ी पंचतत्व में विलीन हुये हरियाणा के पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया

पंचतत्व में विलीन हुये हरियाणा के पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया

9
0
haryana former dgp ajit bhatotia

हरियाणा के पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया का अन्तिम संस्कार सोमवार को उनके पैतृक गांव डूंगरवास में किया गया। स्व. अजीत सिंह भाटोटिया के बेटे संदीप भाटोटिया ने चिता को मुखाग्नि दी। पूर्व डीजीपी की अंतिम विदाई पर रेवाड़ी पुलिस की टुकड़ी द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

 

पूर्व डीजीपी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए आईजी साउथ रेंज रेवाडी राजेंद्र कुमार, एसपी रेवाड़ी शशांक कुमार सावन, आईजी स्टेट विजिलेंस कुलविंदर सिंह, पूर्व डीजीपी एसएन वशिष्ठ, पूर्व डीजीपी यशपाल सिंघल, पूर्व एडीजीपी सीआईडी हरियाणा अनिल कुमार राव अंतिम संस्कार में सम्मिलित हुए तथा उन्हें श्रद्धांजलि दी। क्षेत्र के अनेक गणमान्य व्यक्तियों ने भी पूर्व डीजीपी को श्रद्धांजलि अर्पित की। रेवाड़ी पुलिस प्रशासन की ओर से पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया के स्वर्गवास पर शोक प्रकट करते हुए उनकी आत्मा की शान्ति की प्रार्थना की गई तथा ईश्वर से उनके परिवार को इस दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए प्रार्थना की गई।

 

 

पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया का लंबे समय से बीमारी के चलते 79 साल की उम्र में गत दिवस रविवार को उनके निवास स्थान सैक्टर-14, ओल्ड डीएलएफ गुरुग्राम में स्वर्गवास हो गया था। पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया का जन्म 6 जून 1945 को जिला रेवाड़ी के गांव डूंगरवास में हुआ था। उन्होंने अहीर कॉलेज, रेवाड़ी से स्नातक किया और 2 मार्च 1968 को वह भारतीय सेना में द्वितीय लेफ्टिनेंट के रूप में नियुक्त हुए।

 

1971 के बाद उन्हें मेजर के रूप में पदोन्नत किया गया। इस अवधि के दौरान उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा दी और आईपीएस के लिए चुने गए और जुलाई 1973 में भारतीय पुलिस सेवा में शामिल हुए। गजटेड ऑफिसर होने कारण उन्हें 1968 बैच का आई.पी.एस. अधिकारी माना गया। भारतीय पुलिस सेवा में चयनित होने के उपरांत अजीत सिंह भाटोटिया को हरियाणा कैडर मिला था।

 

उन्होंने हरियाणा में सिरसा, जींद, सोनीपत और गुरूग्राम में बतौर पुलिस अधीक्षक के रूप में सेवा दी और पुलिस उप-महानिरीक्षक व पुलिस महानिरीक्षक के पद पर पदोन्नत होने के बाद उन्होंने हरियाणा में विभिन्न पदों पर पुलिस सेवा की। वर्ष 1999 में उन्हें डीजीपी हरियाणा के पद पर पदोन्नत किया गया। उन्होंने पुलिस महानिदेशक जेल की भी जिम्मेवारी संभाली थी।

 

पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया 07.05.1999 से 10.10.1999 व 12.01.2005 से 30.06.2005 तक हरियाणा पुलिस में पुलिस महानिदेशक के पद पर तैनात रहे। 30 जून 2005 को वो अपने सफल व लम्बे कार्यकाल के बाद सेवा से सेवानिवृत हो गए थे।

 

पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया लंबे समय से बीमार चल रहे थे और बीमारी के चलते गत 31 मार्च 2024 को 79 साल की उम्र में उनका स्वर्गवास हो गया। पूर्व डीजीपी अजीत सिंह भाटोटिया के परिवार में उनकी पत्नी सविता , उनका 1 बेटा व 1 बेटी है। उनके बेटे का नाम संदीप भाटोटिया है जो पेशे से उद्योगपति है तथा बेटी का नाम निधि भाटोटिया है।