नॉलेजपुलिसरेवाड़ी

सावधान: ठगी करने का ठगों ने अपनाया नया तरीका, बिना बुक किए कोरियर भेजकर साइबर ठग कर रहे ठगी

साइबर ठगों द्वारा कोरियर और गिफ्ट घर पहुंचाने के नाम ठगी का नया तरीका अपनाया जा रहा है। कई राज्यों में इस तरह के मामलों की शिकायत आ रही है। ऐसे में बिना आर्डर किए गए कोई कोरियर घर पहुंचता है तो सावधानी बरतें क्योंकि आपके साथ ठगी हो सकती है। साइबर ठग ओटीपी पूछ कर बैंक खाते से रुपये साफ कर सकते है।

पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने कहा कि समय के साथ ऑनलाइन मार्केटिंग का प्रचलन बढ़ा है। ऐसे में ऑनलाइन प्रोडक्ट की बुकिंग करने के बाद उसकी डिलीवरी घर या किराए के कमरे पर होती है। इसी का फायदा अब साइबर शातिर उठा रहे हैं। वह कोरियर और गिफ्ट पहुंचाने के नाम पर ठगी कर रहे हैं।

ये बरतें सावधानी

चूंकि आमतौर पर पहले भी कोरियर के जरिए सामान मिल चुका होता है, लिहाजा कोई भी व्यक्ति तुरंत भरोसा कर लेता है। अब आपको सतर्क रहने की आवश्यकता है। ध्यान देना होगा कि आपने जो सामान ऑनलाइन बुक किया था, उसी के संबंध में किसी से बातचीत हो रही है या नहीं। अगर उससे संबंधित नहीं है तो किसी भी दशा में अपनी गोपनीय जानकारी जैसे एटीएम कार्ड, बैंक खाते की डिटेल और ओटीपी शेयर नहीं करना है।

इसमें लक्ष्य करके किसी को भी शिकार बनाकर उसके पते पर कोरियर के जरिए एक पार्सल भेजा जाता है जो उसने कभी ऑर्डर ही नहीं किया होता। जाहिर है कि वह ऑर्डर रिसीव करने से मना कर देगा। फिर डिलिवरी ब्वाय उस पार्सल भेजने वाले को फोन लगाएगा जिसका नंबर ‘कस्टमर केयर’ के रूप में लेबल पर दिया होगा। शिकार की फोन पर बात कराई जाएगी। उसे समझाया जाएगा कि अगर ऑर्डर उसने नहीं किया तो वह इस आर्डर को कैंसिल करा सकता है।

मोबाइल पर आया OTP न बताएं

बस इसके लिए मोबाइल पर आया OTP बताना होगा। पीछा छुड़ाने के लिए शिकार व्यक्ति जल्दबाजी में OTP बता देता है और यहीं पर चूक हो जाती है। कॉल पर OTP मिलते ही दूसरी ओर बैठे ठग शिकार का बैंक खाता खाली कर देते हैं। ऐसे में बिना आर्डर किए कोई कोरियर घर पहुंचता है तो ठगी हो सकती है। ऐसा कोई कोरियर पहुंचता है तो उसकी शिकायत पुलिस को दें। ठगी होने पर तुरंत साइबर हेल्पलाइन नंबर 1930 या 112 पर कॉल करें।

 

 

Back to top button