पुलिसरेवाड़ी

गोली मारने का झूठा मामला दर्ज करवाने के मामले में चौथा आरोपी गिरफ्तार

सदर थाना पुलिस ने गांव गोकलगढ़ में जनवरी माह में दोस्तों के साथ पार्टी करने के दौरान चली गोली से घायल हुए शिकायतकर्ता के मामले में झूठा केस दर्ज कराने में शामिल चौथे आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी की पहचान सदर थाना क्षेत्र के मांढैया खुर्द निवासी विकास उर्फ चीकू के रूप में हुई है। पुलिस मामले में तीन आरोपियों महमपाल उर्फ भालू, महेश उर्फ गैणी व बादल उर्फ धोला को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

जांचकर्ता ने बताया कि गांव गोकलगढ़ निवासी महमपाल ने शिकायत दी थी कि 9 जनवरी की रात करीब 11 अपने अन्य साथियों के साथ पैदल गांव एक गली से गुजर रहे थे। इसी दौरान सामने से कार में सवार होकर आए बदमाशों ने उस पर गोली चला दी। गोली महमपाल के पैर में लगने से घायल हो गया था। महमपाल के साथी उसे गंभीर हालत में यहां के ट्रामा सेंटर में लेकर आए, जहां से रोहतक पीजीआई के लिए रेफर कर दिया गया था। सदर थाना पुलिस ने हत्या के प्रयास व आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी।

 

खुद की पिस्तौल से लगी थी गोली:

जांच के दौरान पुलिस को महमपाल द्वारा दी गई शिकायत पर संदेह हो गया। गोली चलने की घटना के अगले दिन ही सीआईए रेवाड़ी ने वारदात स्थल से कुछ ही दूरी पर स्थित खंडहर मकान से एक देसी पिस्तौल व दो देसी कट्टे बरामद किए थे, जिसके बाद पुलिस का संदेह और बढ़ गया। जांच के बाद पुलिस ने महमपाल उर्फ भालू, महेश उर्फ गैणी व बादल उर्फ धोला को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपियों ने झूठी शिकायत करना स्वीकार कर लिया।

 

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि आठ जनवरी को गोपालपुर गाजी निवासी बादल उर्फ धोला जेल से छूट कर आया था, जिसकी खुशी में वह पार्टी कर रहे थे। इसमें महमपाल, विकास उर्फ चीकू, महेश उर्फ गैणी व बादल बैठ कर शराब पी रहे थे। बादल ने महमपाल की पिस्तौल देखने के लिए ली थी, जिससे अचानक गोली चल गई और महमलपाल के पैर में लगने से घायल हो गया था।

 

घटना के बाद आरोपियों ने सभी अवैध हथियार खंडहर मकान में फेंक दिए थे। पुलिस से बचने के लिए आरोपियों ने कार सवार युवकों द्वारा गोली मारने की झूठी शिकायत दे दी थी। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद रविवार को चौथे आरोपी विकास उर्फ चीकू को भी गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को आज अदालत में पेश करके न्यायिक हिरासत में भेजा गया।

Show More
Back to top button