राष्ट्रीय

RPF ने एक वर्ष में बिना टिकट यात्रियों से वसूले 9.9 करोड़, इसके आलावा ये रही बड़ी उपलब्धियों

RPF ने एक वर्ष में बिना टिकट यात्रियों से वसूले 9.9 करोड़, इसके आलावा ये रही बड़ी उपलब्धियों

रेलवे सुरक्षा बल ( RPF ) रेलवे संपत्ति और यात्रियों की सुरक्षा की जिम्मेदारी 24X7 निभा रही है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार आरपीएफ यात्रियों को सुरक्षित और आरामदायक यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए चैबीसों घंटे काम कर रही है। आरपीएफ ने रेलवे संपत्ति के खिलाफ अपराध का पता लगाने के लिए उपाय करने के साथ-साथ निरोधक उपायों के जरिए पूरे देश में स्थित रेलवे की विशाल संपत्ति की सुरक्षा की जिम्मेदारी को भी निभाया है।

वर्ष 2021 के दौरान रेलवे सुरक्षा बल, उत्तर पष्चिम रेलवे की उपलब्धियों का संक्षिप्त विवरण निम्नलिखित है-

  • रेलवे सुरक्षा बल ने वाणिज्य विभाग के साथ 3405 चैकिंग अभियानों में 3820 आरपीएफ कर्मियों द्वारा 2,11,698 बिना टिकट यात्रा कर रहे यात्रियों से 9,96,96,574 रू. का जुर्माना वसूल करने में सहायता प्रदान की।
  • टिकट दलाली के 117 मामले दर्ज कर 6.67 लाख रू. मूल्य के टिकट बरामद कर 140 अरोपियों को गिरफ्तार किया।
  •  साल 2021 के दौरान आरपीएफ कर्मियों ने अपनी सुरक्षा की चिंता किए बिना अपनी ड्यूटी की सीमा से कहीं आगे जाकर 02 पुरूष एवं 06 महिला यात्रियों की जिंदगी को बचाया।
  • इस वर्ष आरपीएफ ने 254 लावारिस बच्चों, 29 पुरूष तथा 31 महिलाओं को रेस्क्यू कर चाईल्ड हैल्प लाईन पर उनके परिजनों को सकुषल सुपुर्द किया।
  •  चैन पुलिंग के 2104 मामले दर्ज किये गये, जिसमें 1908 आरोपियों को गिरफ्तार कर उचित कानूनी कार्यवाही की गई।
  • मेरी सहेली योजना के तहत 22915 महिला यात्रियों को सुरक्षा/सहायता प्रदान की गई। साथ ही विकलांग/दिव्यांग कोचों में अवैध यात्रा करने वालो के विरूद्ध 135 केस बनाकर 18 हजार से अधिक जुर्माना वसूला गया।
  • आईपीसी केसों के अंतर्गत यात्री सामान चोरी के 26 मामलों में 27 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इसी के साथ अवैध हथियार के दो, चैन स्नेचिंग तथा जेब तराषी के 13 मामलों सहित अन्य 14 मामले दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया।
  •  रेलवे माल चोरी के कुल 141 मामले दर्ज कर 10 लाख रू. से अधिक का रेलवे माल बरामद कर 229 आरोपियों की खिरफ्तारी की गई।
  •  रेलवे सुरक्षा बल द्वारा 472 यात्रियों के 73.48 लाख रू. के सामान छूट जाने पर उन्हें वापस सही सलामत सुपुर्द किया।
  •  इसी के साथ रेलवे सुरक्षा बल हैल्प लाईन पर प्राप्त 551 षिकायतों/सहायता मांगे जाने पर त्वरित कार्यवाही करते हुए सहायता प्रदान की गई।

कैप्टन शषि किरण ने बताया कि रेलवे, यात्रियों की संरक्षित एवं सुरक्षित यात्रा के लिए कटिबद्ध है एवं इसके लिए रेल सुरक्षा बल 24ग्7 हमेशा तत्पर है। यात्रियों से निवेदन है कि सुरक्षा संबंधी किसी भी घटना पर उपस्थित रेलवे अधिकारियों/कर्मचारियों को सूचना दें या हेल्पलाइन नंबर 139 पर तुरंत सूचित करें।

Back to top button