राष्ट्रीय

हरियाणा -राजस्थान बॉर्डर अभी पहले जैसे हालात , पूरी तरह से हाइवे खुलने का इंतजार

हरियाणा -राजस्थान बॉर्डर अभी पहले जैसे हालात , पूरी तरह से हाइवे खुलने का इंतजार

कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा-राजस्थान बॉर्डर पर राजस्थान की सीमा में किसान अन्दोलान चल रहा है. जहाँ हाइवे के बीच किसानों ने टेंट लगाए हुए है. वहीँ हरियाणा के हिस्से में पुलिस ने बैरिकेट्स लगाये हुए है. सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद दिल्ली के सिंधू और टिकरी बॉर्डर पर वाहनों की आवाजाही धीरे-धीरे चालू की जा रही है. हरियाणा-राजस्थान बॉर्डर पर पहले से दिल्ली से जयपुर जाते वक्त सर्विस लाइन खोली हुई है. और छोटी गाड़ियों के लिए जयपुर से दिल्ली का रास्ता भी करीबन 20 दिनों से चालू है. लेकिन जयपुर से दिल्ली जाने वाले भारी वाहनों को अभी भी आसपास के गाँवो के रास्तों से होकर निकलना पड़ रहा है.

 

दिल्ली – जयपुर नेशनल हाइवे नम्बर 48 की ये तस्वीर है. जहाँ राजस्थान साइड किसानों ने हाइवे के बीच टेंट लगाए हुए है. और हरियाणा की साइड में पुलिस ने बैरिकेट्स , और केंटेंडर्स रखकर रस्ते हाइवे को बंद किया हुआ है. फिलहाल किसानों के टेंट में भी ना मात्रा लोग है और पुलिस प्रशासन द्वारा भी ना मात्र लोग मौके पर तैनात है. लेकिन हाइवे पूरी तरह से चालू ना होने से वाहन चालकों को भारी परेशानियों का समाना करना पड़ रहा है.  दिल्ली से जयपुर जाने वाले हाइवे की सर्विस लाइन खुली होने से कुछ राहत तो है .. लेकिन यहाँ अक्सर जाम से लोग बेहाल है. वाहनों का दबाव ज्यादा और सर्विस लाइन सड़क छोटी होने के कारण कई किलोमीटर लम्बा जाम यहाँ लग जाता है.

इसी तरह से जयपुर से दिल्ली जाने के लिए केवल छोटी गाड़ियों को हाइवे से धीरे-धीरे निकाला जा रहा है. लेकिन बड़ी गाड़ियों के लिए अभी भी आफत बनी हुई है. किसान नेताओं का कहना है कि रोड़ सरकार ने बंद किया है. वो तो सिर्फ दिल्ली जाकर अपनी बात रखना चाहते है. और अगर ऐसी स्थिति में दोनों साइड से भारी वाहनों को चालू कर दिया गया तो हादसा होने के ख़तरा बढ़ जाता है . ऐसे में देखना होगा कि आखिर कब तक हाइवे को सुचारू रूप से चालू किया जाता है.

Show More
Back to top button