मत्स्य पालन पर सरकार दे रही 60 प्रतिशत तक का अनुदान

मत्स्य पालन पर सरकार दे रही 60 प्रतिशत तक का अनुदान , 20 फरवरी तक करें आवेदन

रेवाडी, 18 फरवरी। अतिरिक्त उपायुक्त राहुल हुडडा ने बताया कि मत्स्य पालन विभाग द्वारा वित्त वर्ष के अन्तर्गत प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) के तहत विभिन्न स्कीमों में रेवाडी जिला के प्रार्थियों से ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए है। इनमें रिस्र्कलूटरी एक्वा कल्चर सिस्टम /बायोफलोक बनाने व अनुदान प्राप्त करने के लिए नागरिक 20 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं।

एडीसी राहुल हुडडा आज लघु सचिवालय में प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना 2021-22 के तहत जिला स्तरीय कमेटी की बैठक ले रहे थे। उन्होंने कहा कि नागरिक जमीन पर तालाब बनाने, खारे पानी में मछली पालन, झींगा पालन करने तथा मछली बेचने हेतू वाहन खरीदने के लिए भी आवेदन कर सकते हैं। पहले आओ पहले पाओ के आधार पर विभाग इस पर अनुदान देगा। उन्होंने बताया कि सामान्य श्रेणी के लिए इकाई लागत का अधिकतम 40 प्रतिशत अनुदान व अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति/महिला श्रेणी के लिए इकाई लागत का 60 प्रतिशत अनुदान का प्रावधान है।

बैठक में जिला मत्स्य अधिकारी अजय कुमार ने बताया कि रेवाड़ी जिला में 550 हेक्टेयर वाटर एरिया है जिसमें 10 हजार मीट्रिक टन का उत्पादन होता है। उन्होंने बताया कि अधिक जानकारी के लिए जिला के इच्छुक नागरिक जिला मत्स्य अधिकारी कार्यालय रेवाडी व मत्स्य विभाग की वेबसाइट http://harfish.gov.in/ पर लॉगिन कर सकते हैं। बैठक में उप-निदेशक कृषि दीपक यादव, प्रबंधक जिला अग्रणी बैंक भूपेन्द्र राव, कृषि विज्ञान केन्द्र रामपुरा के वैज्ञानिक, प्रगतिशील मत्स्य किसान सुखराम, जल संसाधन विभाग के कार्यकारी अभियंता उपस्थित रहे।

Spread the love