Sunday, October 17, 2021
advt

किसान मेरा पानी मेरी विरासत पोर्टल पर 25 जून 2021 तक करवाएं पंजीकरण

advt.
  • किसान मेरा पानी मेरी विरासत पोर्टल पर 25 जून 2021 तक करवाएं पंजीकरण
  • धान के स्थान पर अन्य वैकल्पिक फसलों की करें बिजाई, 7 हजार रूपए प्रति एकड़ मिलेगी प्रोत्साहन राशि


रेवाडी़, 4 जून। हरियाणा राज्य के गिरते भूजल को बचाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा इस वर्ष भी फसल विविधिकरण योजना मेरा पानी मेरी विरासत को लागू रखने की स्वीकृति प्रदान कर दी गई है। मेरा पानी मेरी विरासत योजना गत वर्ष लागू की गई थी तथा लगभग एक लाख एकड़ धान की फसल का वैकल्पिक फसलों द्वारा विविधिकरण किया गया था। इस वर्ष फसल विविधिकरण के अंतर्गत 2.00 लाख एकड़ भूमि का लक्ष्य रखा गया है।
उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह योजना पूरे राज्य में लागू होगी तथा इस योजना के तहत किसानों को धान के स्थान पर वैकल्पिक फसलों (कपास, मक्का, दलहन, मूंगफली, तिल, ग्वार, अरण्ड, सब्जियां व फल) की बिजाई करनी होगी, जिसके फलस्वरूप प्रति एकड़ 7 हजार रूपए की प्रोत्साहन राशि दो किस्तों में दी जाएगी।


इस योजना के तहत जिन किसानों ने पिछले वर्ष अपने धान के क्षेत्र को वैकल्पिक फसलों द्वारा विविधिकरण किया था तथा चालू खरीफ सीजन में भी यदि वो उस क्षेत्र में वैकल्पिक फसलों की बिजाई करते है तो उन्हें भी प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इस योजना के अंतर्गत जो किसान पिछले वर्ष धान बिजित क्षेत्र में चारे की फसल लेते हैं व अपने खेत को खाली रखते हैं उन्हें भी प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत सभी वैकल्पिक फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकार द्वारा खरीदा जाएगा। इस फसल विविधिकरण योजना के अंतर्गत सभी वैकल्पिक फसलों का बीमा भी विभाग द्वारा करवाया जाएगा जिसके प्रीमियम की अदायगी प्रोत्साहन राशि से की जाएगी।
उन्होंने कहा कि फसल विविधिकरण को बढ़ावा दे तथा तकनीकी जानकारी हेतू किसानों को गांव स्तर पर कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा वैकल्पिक फसलें बिजाई करने हेतू पूर्ण जानकारी दी जाएगी। कृषि विभाग व कृषि विज्ञान केन्द्रों द्वारा किसानों को वैकल्पिक फसलों की आधुनिक तकनीक से बिजाई करने व अच्छी पैदावार लेने हेतु प्रदर्शन प्लॉट भी आयोजित किए जाएंगे।

Advt.


इस योजना का लाभ लेने हेतू इच्छुक किसानों को मेरा पानी मेरी विरासत पोर्टल पर 25 जून 2021 तक पंजीकरण करना होगा। रेवाड़ी जिले में गत वर्ष 447 है। क्षेत्र में धान की फसल छोडक़र अन्य फसल की बिजाई की गई थी। इस वर्ष विभाग की तरफ से जिले में निम्नानुसार लक्ष्य निर्धारत किये गये है। जिसमें मक्का के लिए 10 एकड, कपास के लिए 250, खरीफ दलहन, अरहर, मूंग, उड़द, मोठ, सोयाबीन व ग्वार के लिए 10, खरीफ फसल मूंगफली व तिल के लिए 100, चारा व खाली जमीन के लिए 2 हजार एकड क्षेत्र निर्धारित किए गए है।
इस बारे में अधिक जानकारी के लिये सम्बन्धित कृषि अधिकारी/ खण्ड़ कृषि अधिकारी अथवा उपनिदेशक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग कार्यालय में सम्पर्क कर सकते है।

advt.

Related Articles

YouTube Channel
Video thumbnail
प्राइवेट स्कूलों ने हरियाणा बोर्ड की कार्यशैली पर सवाल खड़े किये #rewariupdate
03:26
Video thumbnail
मंडी में खाद के लिए किसानों की भारी भीड़#rewariupdate
08:53
Video thumbnail
रेवाड़ी के बेरली में रावण दहन short #latestnews
00:59
Video thumbnail
रेवाड़ी हुडा ग्राउंड में इस बार नहीं हुआ रावण दहन #rewariupdate
03:33
Video thumbnail
पर्वतारोही भारती ने यूनम पर्वत की 6111 मीटर ऊँची चोटी पर फतह की. स्कूल में हुआ भव्य स्वागत #rewari
03:12
Video thumbnail
IGU में LLB की सीट बढ़ाने को लेकर INSO का विरोध प्रदर्शन #rewariupdate
03:04
Video thumbnail
रेवाड़ी में पुलिस की मौजूदगी में किसानों को दिया खाद #rewariupdate
04:00
Video thumbnail
E-Mail के जरिये Cyber Crime , Police ने कहा जनता सतर्क रहें #rewariupdate
05:56
Video thumbnail
फाइनेंस कम्पनी के कर्मचारी से 7 लाख की लूट #rewariupdate
01:49
Video thumbnail
Rewari AIIMS , संघर्ष समिति ने जल्द निर्माण शुरू कराने को लेकर किया प्रदर्शन #rewariupdate
05:58
46,957FansLike
11,734FollowersFollow
1,216FollowersFollow
98,018SubscribersSubscribe
Advt.

Latest Articles