ऑटोमोबाइल

भारतीय रेलवे ने जारी की नई समय सारिणी “टीएजी”, 1 अक्टूबर, 2022 से हुई लागू

नई समय सारिणी अक्टूबर 2022 से जून 2023 तक प्रभावी रहेगी। यह भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट यानी indianrailways.gov.in पर उपलब्ध है। रेल मंत्रालय ने कहा “ट्रेन टाइम टेबल के डिजिटलीकरण के एक हिस्से के रूप में ‘ट्रेन एट ए ग्लांस (टीएजी) ई-बुक’ के रूप में उपलब्ध होंगी, जिसे आईआरसीटीसी की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।”

भारतीय रेलवे ने 1 अक्टूबर 2022 को अपना नया अखिल भारतीय रेलवे टाइम टेबल जारी किया है। जिसे ‘‘ट्रेन एट ए ग्लांस(TAG )’ के रूप में जाना जाता है। आपको बता दें कि इससे पहले रेलवे की समय सारिणी साल 2019 में ही आई थी । इसके बाद कोरोना की वजह से रेलवे में ट्रेनों का टाइम टेबल अटका हुआ है । नई समय सारिणी अक्टूबर 2022 से जून 2023 तक प्रभावी रहेगी। यह भारतीय रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट यानी indianrailways.gov.in पर उपलब्ध है। रेल मंत्रालय ने कहा “ट्रेन टाइम टेबल के डिजिटलीकरण के एक हिस्से के रूप में ‘ट्रेन एट ए ग्लांस (टीएजी) ई-बुक’ के रूप में उपलब्ध होंगी, जिसे आईआरसीटीसी की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है।”

क्या है ट्रेन एट ए ग्लांस (TAG)’?

‘ट्रेन्स एट ए ग्लांस’ में भारतीय रेलवे के नेटवर्क में चलने वाली लगभग 700 ट्रेनों के शेड्यूल शामिल हैं। इसमें ट्रेनों के प्रस्थान और आगमन के साथ-साथ उनका ठहराव भी होता है। यात्रियों को शेड्यूल की बेहतर समझ रखने के लिए हर साल रेलवे ट्रेन को एक नज़र में प्रकाशित करता है।

TAG के माध्यम से ट्रेन के प्रस्थान, आगमन, विलंब के समय की जांच कैसे करें

विधि 1: ट्रेन नंबर जानें

TAG में ट्रेन नंबर इंडेक्स होता है और एक एक्सप्रेस ट्रेन मूल रूप से 4 अंकों की एक जोड़ी होती है। यात्रियों को प्रत्येक ट्रेन नंबर के सामने टेबल नंबर मिल सकते हैं।

 विधि 2: ट्रेन का नाम जानें

TAG में ट्रेन के नामों का एक सूचकांक होता है और ये नाम वर्णानुक्रम में सूचीबद्ध होते हैं। नाम देखने के लिए, यात्रियों को सूचकांक में जाना होगा और इसके सामने दर्शाई गई तालिका संख्या को देखना होगा।

विधि 3: मार्ग मानचित्र का उपयोग करना

तीसरी विधि मानचित्रों को देखने की होती है। TAG में दो मानचित्र होते हैं। पहला नक्शा एक योजनाबद्ध मार्ग नक्शा है, दूसरा एक बड़ा भारतीय रेलवे नेटवर्क नक्शा है। पहले मानचित्र में तालिका संख्या वाले मार्गों को चिह्नित किया जाता है, जो व्यक्ति को संबंधित तालिकाओं के माध्यम से मार्ग खोजने में मदद करेगा। इससे लोग उन रूटों पर चलने वाली ट्रेनों का पता लगा सकते हैं।

नई समय सारिणी की मुख्य विशेषताएं निम्‍नलिखित हैं:

भारतीय रेलवे पर कुल 3,240 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चलती हैं। जिसमें वंदे भारत एक्सप्रेस, गतिमान एक्सप्रेस, राजधानी एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस, हमसफर एक्सप्रेस, तेजस एक्सप्रेस, दुरंतो एक्सप्रेस, अंत्योदय एक्सप्रेस, गरीब रथ एक्सप्रेस, संपर्क क्रांति एक्सप्रेस, युवा एक्सप्रेस उदय एक्सप्रेस, जनशताब्दी एक्सप्रेस और अन्य प्रकार की ट्रेनें शामिल हैं।

इसके अलावा, रेलवे में 3,000 यात्री ट्रेनें और 5,660 उपनगरीय ट्रेनें भी शामिल हैं। इस बीच, समय सारणी के अनुसार, वर्ष 2021-22 के दौरान रेलवे में कुल 106 नई सेवाएं शुरू की गई। दूसरी ओर, 24 सेवाओं की आवृत्ति बढ़ाई गई है, जबकि 212 सेवाओं को भी बढ़ाया गया है। इसके अलावा, भारतीय रेलवे नेटवर्क पर लगभग 3,000 यात्री रेलगाडि़यों और 5,660 उपनगरीय रेलगाडि़यों का भी परिचालन किया जाता है। इन पर प्रतिदिन यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या लगभग 2.23 करोड़ है ।

प्रीमियम ट्रेनों का प्रसार:

पीएम नरेंद्र मोदी ने 30 सितंबर 2022 को “वंदे भारत एक्सप्रेस” ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। यह देश की तीसरी व गुजरात की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन है। इसे गांधी नगर से मुंबई सेंट्रल के बीच चलाया जाएगा। इससे पहले वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनें नई दिल्ली-वाराणसी और नई दिल्ली-श्री माता वैष्णो देवी कटरा के बीच चलाई जा रही है। इस ट्रेन को ‘मेक इन इंडिया’ के तहत तैयार किया गया है। भारतीय रेलवे नेटवर्क पर ओर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों को शुरू करने का प्रस्ताव किया गया है।

 

Show More
Back to top button
%d bloggers like this: