Home More धारुहेड़ा कंपनी में बॉयलर ( डस्ट कल्कटर ) फटने से घायल हुये...

धारुहेड़ा कंपनी में बॉयलर ( डस्ट कल्कटर ) फटने से घायल हुये 10 कर्मचारियों की ईलाज के दौरान मौत

210
0
dharuhera company boiler blast

धारुहेड़ा की कंपनी में बॉयलर ( डस्ट कल्कटर ) फटने से हुये हादसे में घायल कर्मचारियों में से 3 और कर्मचारियों की ईलाज के दौरान मौत हो गई। जबकि 7 कर्मचारियों की बीते तीन दिनों में मौत हो चुकी है। बता दें कि 16 मार्च को धारुहेड़ा औद्योगिक क्षेत्र की लाइफलॉन्ग कंपनी में भयंकर हादसा हुआ था।

 

कंपनी में बॉयलर ( डस्ट कल्कटर) फटने से जोरदार धमाका हुआ था और फिर आग लग गई थी। इस हादसे में कंपनी में काम कर रहे 39 कर्मचारी बुरी तरह से झुलस गए थे। जिनमें काफी कर्मचारियों की हालात नाजुक बनी हुई थी। गंभीर घायलों को रोहतक पीजीआई और दिल्ली सफरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहाँ ईलाज के दौरान अबतक 10 कर्मचारियों की मौत हो चुकी है। जबकि अभी भी आधा दर्जन कर्मचारी ज़िंदगी और मौत की जंग लड़ रहे है।

 

जानकारी के मुताबिक मरने वाले कर्मचारियों में यूपी के बहराइच जिले का 20 वर्षीय दिनेशम यूपी के सिखरोना निवासी 25 वर्षीय घनश्याम और गौंडा निवासी 25 वर्षीय मनोज कुमार की बीती रात ईलाज के दौरान मौत हुई है। जबकि इसे पहले तीन दिनों में जिन 7 कर्मचारियों की मौत हुई है। उसमें अयोध्या निवासी अमरजीत (35), देवानंद (22), मैनपुरी निवासी अजय (32), बहराइच निवासी विजय (37),  गोरखपुर निवासी रामू (27),  फैजाबाद निवासी राजेश (38), और पंकज (35) शामिल है।

 

वहीं इस मामले में कार्रवाई की बात करें तो कर्मचारियों की मौत के बाद पुलिस ने ठेकेदार और अन्य के खिलाफ लापरवाही की धाराओं के तहत केस दर्ज किया हुआ है। पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन ने कहा कि जिला उपायुक्त और वे खुद दोनों मौके का जायजा ले चुके है। मौके पर साक्ष्यों से छेड़छाड़ ना हो उसके लिए पुलिस के जवानों को मौके पर तैनात किया गया है।

 

एसपी रेवाड़ी ने कहा कि जिला प्रशासन से कंपनी सेफ़्टी एक्सपर्ट मुहैया कराने के लिए लिखा गया है। ताकि जांच में पता लगाया जा सकें की कहाँ लापरवाही हुई, कैसे हादसा और इस हादसे में किसने लापरवाही रही।

बता दें कि कर्मचारियों ने अपनी शिकायत पर कहा था कि पहले दो बार बॉयलर फट चुका था। लेकिन शिकायत के बावजूद कंपनी और ठेकेदार ने कोई ध्यान नहीं दिया।