Friday, January 21, 2022
Homeनॉलेजअंटार्कटिका में वैज्ञानिक ने खोजी रहस्यमय दुनिया

अंटार्कटिका में वैज्ञानिक ने खोजी रहस्यमय दुनिया

माउंट सिडली के बाद माउंट एरेबस अंटार्कटिका का दूसरा सबसे ऊंचा सक्रिय ज्वालामुखी है। यह पृथ्वी पर सबसे दक्षिणी सक्रिय ज्वालामुखी है। 3,684 मीटर की ऊंचाई पर यह ज्वालामुखी रॉस द्वीप पर स्थित है। इस द्वीप का निर्माण रॉस सागर में चार ज्वालामुखियों ने किया है। यह ज्वालामुखी करीब 1.3 मिलियन साल से सक्रिय है और बर्फीले महाद्वीप के नीचे एक जानवरों और पौधों की रहस्यमय दुनिया का सबूत देता है।

 

गुफाओं के अंदर तापमान 25 डिग्री सेल्सियस
टीम ने कहा कि गुफाओं में प्रकाश है और इनका तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है जिससे वे जीवन के लिए संभावित प्रजनन स्थल बन सकते हैं। यह अध्ययन 2017 में प्रकाशित हुआ था और इसका नेतृत्व डॉ सेरिडवेन फ्रेजर, लॉरी कॉनेल, चार्ल्स के ली और एस क्रेग कैरी ने किया था। उस समय डॉ फ्रेजन ने कहा था कि गुफाएं वाकई अंदर से काफी गर्म हैं और कुछ का तापमान 25 डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।

 

गुफाओं में टी-शर्ट पहनकर घूम सकते हैं
उन्होंने कहा कि आप वहां एक टी-शर्ट पहनकर बड़े आराम से टहल सकते हैं। गुफा के मुहाने पर प्रकाश है और गुफाओं के कुछ हिस्सों में रौशनी ऊपर से आती रहती है जहां ऊपर की बर्फ पतली होती है। गुफाओं से ली गई मिट्टी का डीएनए विश्लेषण करते हुए, टीम को शैवाल, काई और छोटे अकशेरूकीय जानवरों सहित जीवों के सबूत मिले। हालांकि यह आश्चर्यजनक नहीं था क्योंकि अंटार्कटिका में इनमें से कई प्रजातियां पहले से पाई जाती हैं।

कॉपी – एनबीटी

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments