Electricity Corporation: घरों के ऊपर से जा रही बिजली की तारों को बिजली निगम अपने खर्च पर हटाएँ – डॉ बनवारी लाल

0
3
Electricity Corporation

Electricity Corporation: सहकारिता एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डा. बनवारी लाल ने मंगलवार को लोक निर्माण विश्राम गृह ,बावल में रेवाड़ी व बावल प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए मुख्यमंत्री जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा की गई घोषणाओं को जल्द से जल्द धरातल पर उतारने के निर्देश दिए।

ढाणियों में भी मिलेगी 24 घंटे बिजली

उन्होंने कहा कि अधिकारी मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं को केवल जुबानी आश्वासन समझने की भूल न करें। मुख्यमंत्री द्वारा जनता से किये गए सभी वादों को जल्द से जल्द धरातल पर साकार करने का कार्य प्राथमिकता के तौर पर करे। उन्होंने कहा कि अब बावल विधानसभा क्षेत्र की ढाणियों में भी 24 घंटे बिजली मिलेगी।

https://fb.watch/m8Ice7jBMW/

35 केवी के दो स्टेशन के लंबित कार्य को भी जल्द करें पूरा

डा. बनवारी ने बैठक में संबंधित अधिकारियों को घरों के ऊपर से गुजर रही लाइन को तुरंत हटाने के निर्देश दिये। उन्होंने आगे कहा कि घरों के ऊपर से जा रहे हैं बिजली के तारों को बिजली विभाग अपने खर्चे से हटाएगा। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने बैठक के उपरांत मीडिया से बात करते हुए कहा कि बिदावास व रणसी माजरी गांव में बनने वाले सब स्टेशन के लिए भूमि विवाद को जल्द सुलझा के उनका कार्य शुरू किया जाएगा व 35 केवी के दो स्टेशन के लंबित कार्य को भी जल्द पूरा किया जायेगा।

नूंह क्षेत्र में हुई हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण : सहकारिता मंत्री

सहकारिता एवं जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री ने नूंह क्षेत्र में हुई हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए मीडिया के माध्यम से समाज के सभी पक्षों से शांति व सौहार्द बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि सरकार ने तुरंत घटनास्थल पर अतिरिक्त पुलिस बल भेज कर हालात को हर संभव तरीके से काबू करने का प्रयास कर रही है, साथ ही उन्होंने विपक्ष को मेवात के संवेदनशील मुद्दे पर ओछी राजनीति न करने की सलाह दी।

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में हालात की संवेदनशीलता को देखते हुए किसी भी तरह की बयानबाजी से परहेज करना चाहिए। बैठक से पहले डा. बनवारी लाल ने बावल व्यापारी मण्डल के सदस्यों से मुलाकात कर दुकानों की मलकियत के विषय मे उनकी मांगों को सुना व अधिकारियों को व्यापारियों की समस्या के शीघ्र निवारण हेतु निर्देश जारी किए।