Friday, January 21, 2022
HomeAdministrationवन-वे रहेगा जारी, यातायात व्यवस्था बनाये रखने के लिए अब ये कदम...

वन-वे रहेगा जारी, यातायात व्यवस्था बनाये रखने के लिए अब ये कदम उठाये जायेंगे

रेवाड़ी शहर को जाम से निजात दिलाने के लिए शहर के सर्कुलर रोड को एक दिसम्बर को एक हफ्ते के लिए ट्रायल के तौर पर वन-वे किया गया था. जिसे आगामी आदेशों तक जारी रखने का फैसला लिया गया था. आज यातायात व्यवस्था को लेकर हुई बैठक में वन-वे जारी रखने के साथ –साथ कुछ जरुरी कदम उठायें जाने के डीसी यशेंद्र सिंह ने निर्देश दिए है. आपको बता दें कि वन-वे के करने से जाम से कुछ राहत तो मिली थी लेकिन बिना इंतजाम किये वन –वे करने से लोगों के सामने और कई समस्याएं खड़ी हो गई थी. जिन समस्याओं को दूर करने के लिए आज बैठक का आयोजन किया गया.

डीसी यशेंद्र सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में एसपी राजेश कुमार, नगरपरिषद चेयरपर्सन पूनम यादव व नप पार्षदों और सबंधित अधिकारी मौजूद रहें. बैठक में पार्षदों द्वारा रखे गए सुझावों पर भी चर्चा की गई. डीसी यशेंद्र सिंह ने पार्किंग, जैबरा क्रोसिंग, डिवाइडर सहित स्पीड लिमिट निर्धारित करने की दिशा में काम करने के निर्देश दिए गए. डीसी ने बताया कि सरकूलर रोड पर वाहनों के खड़े करने के लिए प्रशासन की ओर से चिह्निïत स्थानों पर पार्किंग व्यवस्था की जा रही है ताकि सरकूलर रोड पर वाहन सडक़ पर न खड़े हों पाएं।

उन्होंने बताया कि पार्किंग व्यववस्था जल्द शुरू हो जाएगी और उसके उपरांत सडक़ पर खड़े वाहनों के न केवल चालान सुनिश्चित किए जाएंगे बल्कि रिकवरी वाहन से सडक़ से उन्हें हटवाया भी जाएगा। डीसी ने बताया कि सरकूलर रोड पर यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने के लिए स्पीड लिमिट भी निर्धारित की जाएगी ताकि सडक़ दुर्घटनाओं का कारण वाहनों की तेज रफ्तार न बन पाए।

बैठक में एसपी राजेश कुमार ने कहा कि सडक़ दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के साथ ही शहर को जाम मुक्त करने की दिशा में जो भी कदम उठाए जा रहे हैं वह जनहित में हैं। उन्होंने बताया कि सरकूलर रोड सहित अन्य मार्गों पर यातायात बाधित न हो इसके लिए पुलिस प्रशासन की ओर से पर्याप्त पुलिस कर्मियों की व्यवस्था की गई है। लोगों को नियमों की पालना करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि शहर में सुबह 8 बजे से रात्रि 9 बजे तक भारी वाहनों का प्रवेश पूर्ण रूप से वर्जित किया गया है। उन्होंने कहा कि यातायात व्यवस्था संचालन में जो भी सहयोग जनप्रतिनिधियों द्वारा दिया जा रहा है उन सुझावों को व्यवस्था प्रबंधन हेतु वे शामिल कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments