Rewari AIIMS News: निर्माण में देरी का ज़िम्मेवार कौन ! , विरोध में महिला महापंचायत

0
3
rewari aiims news

Rewari AIIMS News : लंबे समय से एम्स का इंतजार कर रहे लोगों का सब्र का बांध अब टूटता जा रहा है। लिहाजा इलाके के लोगों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। एम्स बनाओ संघर्ष समिति एक बार एम्स निर्माण को लेकर आंदोलन की राह पर है। रेवाड़ी जिले के कुंड में एम्स बनाओ संघर्ष समिति सरकार की मनसा में खोट बताते हुये एक महीने से धरना प्रदर्शन कर रही है। आज धरना स्थल पर महिला महापंचायत की गई। रेवाड़ी विधायक चिरंजीव राव ने भी धरना स्थल पर पहुँचकर मौजूदा सरकार पर निशाना साधा।

 

विधायक चिरंजीव राव ने कि केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह और बीजेपी नेताओं की खिंचतान में इलाके का नुकसान हो रहा है। चुनावी फायदे के लिए Rewari AIIMS के निर्माण को लटकाया हुआ है। हाल में टेंडर करके रद्द करना भी देरी करना का एक हिस्सा है। चिरंजीव राव ने कहा कि 9 साल पहले पहली बार मुख्यमंत्री ने एम्स की घोषणा की थी। एम्स नहीं बना तो इलाके के लोगों ने आंदोलन किया और प्रधानमंत्री ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले एम्स की घोषणा की । लेकिन आजतक एम्स की आधारशिला रखी जाना ये सरकार की नियत को दर्शाता है।

एम्स बनाओ संघर्ष समिति के प्रवक्ता और महिलाओं ने कहा कि एम्स उनका हक है जिसे वो लेकर रहेंगे। पहले भी एम्स के लिए उन्होने लंबा आंदोलन किया था और अब फिर दौबारा आंदोलन करने के लिए तैयार है। लोगों का कहना है कि माजरा एम्स के बाद देश के जिन एम्स की घोषणा हुई थी उनका निर्माण शुरू हो चुका है। लेकिन रेवाड़ी का एम्स लटकता हुआ है। लोगों की मुख्य मांग है कि एम्स की जल्द आधारशिला रखी जाएँ और एम्स की क्लास अस्थाई भवन में शुरू की जाएँ।

 

बता दें कि रेवाड़ी जिले के माजरा भालखी में 220 एकड़ जमीन पर एम्स का निर्माण होना प्रस्तावित है। कुछ समय पहले जमीन को केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग के हैंडओवर करके चारदीवारी का काम शुरू कर दिया गया था। हाल में Rewari AIIMS के निर्माण के लिए टेंडर किया गया था, जो रद्द कर दिया गया। केंद्रीय राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने भी बयान जारी करके कहा था कि तकनीकी कारणों के चलते टेंडर रद्द किया गया है जिसे जल्द नए टेंडर का कार्य पूरा कर लिया जाएगा।