विजय मर्डर केस : दो महिला सहित तीन चढ़े पुलिस के हत्थे , मुख्य आरोपी अभी भी फरार

  • विजय मर्डर केस : आरोपी बीरसिंह उसका साथी अवैध हथियारों के साथ काबू , दो महिलाओं को भी किया गिरफ्तार ,  मुख्य आरोपी अभी भी फरार |
  • आरोपियो के कब्जा से एक रिवाल्वर 6 कारतूस सहित और एक डबल बैरल बोर की डोगा गन 9 कारतूस सहित व एक फर्जी नम्बर प्लेट लगी हुई गाडी बरामद हुई है.

थाना कसौला पुलिस ने दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है. जिनके कब्जे से एक रिवाल्वर, डबल बोर बैरल की डोगा गन व 15 कारतूस बरामद करके एक फर्जी नम्बर प्लेट लगी हुई गाडी भी बरामद की है। गिरफतार किए गए आरोपियो की पहचान रेवाडी के गांव मुण्डनवास कमालपुर निवासी बीरसिंह व अलवर जिला के गांव मकडावा मोतलवास निवासी सुधीर के रुप मे हुई है। जांचकर्ता रणधीर सिंह ने बताया कि रविवार को गस्त के दौरान पुलिस को सुचना मिली की एक सफेद रंग की गाडी में दो व्यकित जिसमे एक का नाम बीरसिह निवासी मुण्डनवास कमालपुर व दुसरे का नाम सुधीर जिनके पास अवैध हथियार व अमुनेशन है जो इस समय गाव पातुहेडा से पोस्को चौक की तरफ आ रहे है। मिली सुचना पर पुलिस ने रैडिंग पार्टी तैयार करके पोस्को चौक पर वाहनो कि नाका बन्दी कर दोनों को काबू किया है . इस मामले में पकड़ा गया आरोपी बीरसिंह गत 29 मई को गांव मुण्डनवास मे हुए हत्या के केस में भी आरोपी है।

विजय मर्डर केस में बीर सिंह और दो महिलाओं को भी काबू किया , मुख्य आरोपी अभी फरार |

पुलिस ने गाँव मुंडनवास में चचेरे भाई की गोली मारकर हत्या करने के मामले में शामिल 2 महिलाओ सहित कुल 3 आरोपियो को गिरफतार किया है। गिरफतार किए गए आरोपियो कि पहचान मुण्डनवास कमालपुर निवासी कविता पत्नि भूपेन्द्र उर्फ मोगली, सोनू पत्नि बिरसिंह व बिरसिंह पुत्र दुलीचन्द के रुप मे हुई है। जांचकर्ता ने बताया कि 29 मई को दोपहर के समय भूपेन्द्र उर्फ मोगंली, उसका भाई बिरसिंह व उनकी पत्नि अपने पिता दुलीचन्द व मां के साथ झगडा करके मारपिट कर रहे थे। दुलीचन्द के द्वारा आवाज लगाने पर उसका छोटा भाई सुभाष व उसका भतीजा भीम वंहा पर आकर उनको समझाने लगे थे। तब उन्होने सुभाष के साथ भी मारपीट करनी शुरु कर दी। अपने पिता सुभाष की आवाज सुनकर उनके दोनो बेटे विजय ओर ब्रहमप्रकाश वंहा पर आए तो भूपेन्द्र उर्फ मोगली, उसकी पत्नी कविता, सोनू पत्नि बीरसिंह व बीरसिंह ने उनके साथ मारपिट करके उन पर गोलिया चला दी। गोली लगने से विजय पुत्र सुभाष कि मोत हो गई और उसका भाई ब्रह्मप्रकाश घायल हो गया था। पुलिस में इस मामले में दो महिला सहित चार के खिलाफ केस दर्ज किया था ..जिसमें तीन आरोपी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिए है . जबकि मुख्य आरोपी भूपेन्द्र उर्फ़ मोगली अभी फरार है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: