नाहड़ क्षेत्र में सात गांव हॉटस्पॉट गांव की श्रेणी से बाहर 

नाहड़ क्षेत्र में सात गांव हॉटस्पॉट गांव की श्रेणी से बाहर

– उपायुक्त यशेन्द्र सिंह के प्रयासों से कोरोना को हराने में मिल रही लगातार सफलता      .

रेवाड़ी,23 मई।  जिला के ग्रामीण इलाकों में चल रही कोरोना की दूसरी लहर पर काबू पाने और ग्रामीणों को महामारी से बचाव की दिशा में  उपायुक्त यशेन्द्र सिंह के प्रयास रंग लाने लगे हैं। आज जिला रेवाड़ी के कोसली क्षेत्र की बात की जाए तो एक दर्जन गांवों में से सात गांव हॉटस्पॉट श्रेणी से बाहर आ गए हैं और स्वास्थ्य विभाग की बात पर गौर की जाये तो बाकी पर डीसी के कुशल प्रबंधन के चलते अतिशीघ्र सफलता मिलेगी। गांवों में कोरोना पर धीरे – धीरे ब्रेक लगने से नाहड़ सीएचसी के तहत उपचाराधीन होम आइसोलेशन मे  चल रहे मरीजों का रिकवरी रेट तेजी से बढ़ रहा है।करीब दो सप्ताह पूर्व जैसे ही शहरों के साथ- साथ कोरोना का गांवों में प्रभाव बढ़ने लगा तो उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने एकाएक स्वास्थ विभाग के अधिकारियों को तलब किया और रिपोर्ट लेते हुए कोविड 19 से बचाव की दिशा में त्वरित कार्यवाही के आदेश दिए, इतना ही नहीं खुद भी गांवों में मरीजों की सेवा में जुट गए और जिला के चिन्हित उन 35 गांवों में आइसोलेशन सेंटर बनाने के निर्देश दिए,जोकि कोरोना मरीजों की अधिकता के चलते स्वास्थ्य विभाग के नार्म्स अनुसार हॉटस्पॉट  गांवों  की श्रेणी में शामिल हैं,जिनमें कोसली उपमंडल के गांव नाहड़,कोसली,गुड़ियानी, भाकली,बव्वा,कारोली,सादतनगर, मुमताजपुर, लिलोढ़,जुडी, झाल और नेहरुगढ़ भी शामिल हैं।  डीसी प्रतिदिन हॉटस्पॉट गांवों में आइसोलेशन सेंटर स्थापित कराने से लेकर मरीजों को मेडिकल किट प्रदान करने आदि कार्यों की नियमित रूप से मोनिटरिंग कर रहे हैं।

प्रतिदिन अधिकारी कर रहे गांवों का दौरा

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारी सभी गांवों को हॉटस्पॉट श्रेणी से बाहर निकालने के लिए हर संभव प्रयास में जुटे हुए हैं। इसके साथ ही जिलाधीश यशेन्द्र सिंह के मार्गदर्शन में उपमंडल प्रशासन भी अधिकारियों की टीम बनाकर ग्रामीणों को कोरोना से बचाव की दिशा में प्रभावी कदम उठा रहा है। प्रतिदिन एसडीएम होशियार सिंह,सभी तहसीलदार और ड्यूटी मजिस्ट्रेट किसी ना किसी गाँव में दस्तक देकर ग्रामीणों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए न केवल जागरूक कर रहे हैं, साथ ही उन्हें जिला प्रशासन द्वारा जारी ग्रामीणों से हुक्का ना पीने,ताश ना खेलने और सार्वजनिक चौपाल में इकट्ठा ना होने का सरल शब्दों में संदेश देकर जागरूक कर रहे हैं। इतना ही नहीं जिला प्रशासन के नियमों की अवेहलना करने वालों से सख्त लहेजे से निपटा जा रहा है और चालान काटे जा रहे हैं। लिहाजा कोरोना को हराने में शासन प्रशासन को ग्रामीणों का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है।  स्वास्थ्य विभागीय के नियम अनुसार जिन गांवों में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 10 से कम हो जाती है, उन्हें कोरोना हॉटस्पॉट गांव की श्रेणी से बाहर निकाल दिया जाता है। स्वास्थ्य विभाग नाहड़ के चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ की मेहनत के परिणामस्वरूप आज गांव मुमताजपुर ,जुडी, भाकली,सादतनगर, लिलोढ़, बव्वा और कारोली गांव  हॉटस्पॉट श्रेणी से बाहर हो गए हैं।

 

होम आइसोलेशन मे रह रहे मरीजों को मिल रही बेहतरीन चिकित्सा  सुविधायें       

नाहड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत पीएचसी गुड़ियानी, बव्वा,नाहड़ और रतनथल के गांवों में होम आइसोलेशन मे उपचार ले रहे 214 मरीजों को डीसी यशेन्द्र सिंह के निर्देश पर  मैडीकल किट उनके घर पर ही स्वास्थ्य विभाग के वर्करों  के माध्यम से पहुचाई जा रही है,जिसका कोरोना संक्रमित मरीजों को काफी लाभ मिल रहा है। किट मे पैरा सीटा मोल,ऐजीथ्रो,विटामिन ए व सी सहित अन्य जरूरी कोरोना रोधी दवाएं और उपकरण शामिल किये गए हैं, जिन्हें चिकित्सकों से परामर्श  लेकर मरीज प्रतिदिन  कोरोना को मात दे रहे हैं। नाहड़ सीएचसी के कोविड प्रभारी डॉ राजीव ने बताया कि अब कुल 968 रोगियों में से 723 रिकवर हो चुके हैं, जबकि 214 मरीजों का होम आइसोलेशन मे उपचार चल रहा है।

 

मुझे चिकित्सकों और उनकी टीम पर गर्व : डीसी     

इस संदर्भ में उपायुक्त यशेन्द्र सिंह कहते हैं कि गांवों में कोरोना के प्रसार को रोकने में नाहड़ के चिकित्सकों और पैरा मेडीकल  कर्मियों की भूमिका सराहनीय है, जिनकी मेहनत के परिणामस्वरूप आज नाहड़ सीएचसी के कई गांव हॉटस्पॉट श्रेणी से बाहर आए हैं, उन्हें पूरी उम्मीद है कि जल्द ही बाकी बचे सभी गांव भी डॉक्टरों की मेहनत और ग्रामीणों की सूझबूझ के चलते हॉटस्पॉट श्रेणी से बाहर आएंगे। होम आइसोलेशन मे रहकर इलाज ले रहे मरीजों को घर पर ही मेडिकल किट उपलब्ध कराई जा रही है, जिसका मरीजों को पूरा लाभ मिल रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: