Friday, January 21, 2022
HomeNationalनए नेविगेशन ऐप के जरिये अब रोड़ एक्सीडेंट के केसों पर लगेगी...

नए नेविगेशन ऐप के जरिये अब रोड़ एक्सीडेंट के केसों पर लगेगी लगाम

आए दिन लाखों लोग रोड एक्सीडेंट में मारे जाते है .सर्दियों में ये आकड़े और भी ज्यादा बढ़ जाते है. इन दुर्घटनाओ को कम करने के लिए और सड़क पर लोगों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें कई उपाय कर रही हैं. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बार-बार रोड सेफ्टी की जरूरतों पर फोकस करने के लिए कहा है. इसी के साथ, केंद्रीय सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय ने देश में ड्राइवर और रोड सेफ्टी टेक्नोलॉजी के लिए IIT मद्रास और डिजिटल टेक कंपनी MapmyIndia के सहयोग से काम कर रहे है.

 

 

 

जानिए कैसे करेगा काम

नेविगेशन ऐप सर्विस ड्राइवरों को अपकमिंग एक्सीडेंट प्रोन एरिया, स्पीड ब्रेकर, शार्प कर्व्स और गड्ढों सहित दूसरे खतरों के बारे में वॉयस और विजुअल अलर्ट देता है. यह पहल देश में सड़क दुर्घटनाओं के कारण होने वाली एक्सीडेंट और मौतों को कम करने के लिए सड़क परिवहन मंत्रालय की प्लानिंग का एक हिस्सा है.

 

 

आपको बता दें, MapmyIndia का डेवलप किया गया ये नेविगेशन सर्विस ऐप, जिसे ‘MOVE’ कहा जाता है, ने 2020 में सरकार की आत्मानिर्भर ऐप इनोवेशन चैलेंज जीता था. इस सर्विस का इस्तेमाल नागरिकों और अथॉरिटी द्वारा एक्सीडेंट, असुरक्षित एरिया, सड़क और ट्रैफिक के मुद्दों को मैप पर रिपोर्ट और ब्रॉडकास्ट और दूसरे यूजर्स की मदद करने के लिए किया जा सकता है. डेटा का विश्लेषण IIT मद्रास और MapmyIndia द्वारा किया जाएगा और फिर भविष्य में सड़कों की स्थिति में सुधार के लिए सरकार द्वारा इसका इस्तेमाल किया जाएगा.

 

 

IIT मद्रास की रोड सेफ्टी पर नई योजना

पिछले महीने, सड़क मंत्रालय ने आधिकारिक तौर पर वर्ल्ड बैंक से फंडिंग के साथ IIT मद्रास के रिसर्चर्स द्वारा बनाए गए डेटा-संचालित रोड सेफ्टी मॉडल को अपनाया. सड़कों को सुरक्षित बनाने और आपातकालीन प्रतिक्रिया में सुधार करने में मदद के लिए 32 से अधिक राज्य और Union Territory, Institute के डेवल्प किए गए विकसित एकीकृत सड़क दुर्घटना डेटाबेस (iRAD) मॉडल का इस्तेमाल करेंगे.

 

 

IIT टीम ने 2030 तक सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों को 50 प्रतिशत तक कम करने और रोड ट्रैफिक एक्सीडेंट से 0 मौतों के टारगेट करने के लिए एक रोडमैप विकसित करने में मदद करने के लिए अलग-अलग राज्य सरकारों के साथ एग्रीमेंट पर साइन किए है. केंद्रीय सड़क परिवहन और हाईवे मंत्रालय ने देश में ड्राइवर और रोड सेफ्टी टेक्नोलॉजी के लिए IIT मद्रास और डिजिटल टेक कंपनी MapmyIndia के सहयोग से काम कर रहे है.तीनों पार्टी ने नागरिकों के लिए एक फ्री-टू-यूज़-नेविगेशन ऐप (Navigation App) लॉन्च किया है, जो सड़क पर आने वाले दुर्घटनाओं के खतरों के बारे में लोगों को अलर्ट करेगा साथ ही ये कई तरह के रोड सेफ्टी फीचर्स के साथ आता है.

 

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments