मुख्यमंत्री ने किया रेवाडी की जनता का अपमान: चिरंजीव राव 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा रेवाडी विधानसभा में ऑनलाईन किए गए शिलान्यास व शुभारंभ पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए रेवाडी विधायक चिरंजीव राव ने कहा कि मसानी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मेरे पिता जी पूर्व मंत्री कैप्टन अजय सिंह यादव ने बनवाया था। अब केवल एक नए भवन का निमार्ण किया जा रहा है। रेवाडी की जनता की भी इसमें भागीदारी है और जनता ने विधायक के रूप में मुझे चुना हुआ है। जनप्रतिनिधि होने के नाते मुझे भी इस मौके पर बुलवाना चाहिए था और नए भवन के निमार्ण में मेरा नाम अंकित होना चाहिए था। जिले के बावल और कोसली दोनो विधानसभाओं के प्रतिनिधियों को बुलाया गया, तो रेवाडी विधानसभा की जनता के प्रतिनिधि को क्यों नही बुलाया गया। ऐसा न करके मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रेवाडी की जनता का अपमान किया है। चिरंजीव राव ने कहा कि मुख्यमंत्री का पद संवैधानिक होता है, वे पूरे प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं, उनको पक्षपात करना शौभा नही देता। जबकि मसानी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के भवन निमार्ण व बूढपुर वाटर वर्कस के निमार्ण के लिए मैंने विधानसभा में भी बोला था। विधायक चिरंजीव राव ने कहा कि रेवाडी को जिनकी सबसे ज्यादा जरूरत है, उनकी तरफ तो मौजूदा सरकार का ध्यान ही नही है। रेवाडी में मनेठी एम्स को सरकार भूल गई है, माजरा श्योराज में मेडिकल कॉलेज बनना है, जिसकी सारी प्रशासनिक मंजूरी भी मिल चुकी है। लडकों के कॉलेज की बिल्डिंग का निमार्ण किया जाना है। सैनिक स्कूल अधुरा पडा हुआ है। उक्त सभी के निमार्ण के लिए मैं बार-बार विधानसभा में भी बोलता हूं। लेकिन सरकार के कान पर जूं तक नही रेंग रही है। आज रेवाडी की जनता को बहूत आशाएं थी, लेकिन मौजूदा सरकार ने रेवाडी की जनता की सारी उम्मीदें तोड दी। मौजूदा सरकार रेवाडी व दक्षिणी हरियाणा को हरियाणा प्रदेश का हिस्सा ही नही समझती है, इसलिए इस ईलाके के साथ पक्षपात किया जा रहा है। विधायक चिरंजीव राव ने कहा कि गत वर्ष 27 अक्टूबर को भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार बनी थी। यह भाजपा का दूसरा कार्यकाल है। रेवाडी में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के अलावा कई मंत्रियों ने जिले में कई राज्य स्तरीय कार्यक्रम भी किए हैं। लेकिन जिले को न कोई बडी सौगात मिली और न ही समस्याओं का समाधान हो पाया है। चिरंजीव राव ने कहा कि मौजूदा सरकार ने पिछले 1 साल में जनता को तोहफे में शराब घोटाला, रजिस्ट्री घोटाला, बेरोजगारी में प्रदेश नंबर वन बना दिया, किसानों पर लाठियां बरसाई जा रही हैं, पी टी आई शिक्षक सडकों पर हैं, महिलाओं व दलितों पर अत्याचार बढता जा रहा है, प्रदेश की कानून व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। वहीं बुुढाना पेंशन 5100 रूपये और रोजगार में हरियाणा वासियों को 75 प्रतिशत आरक्षण भी हवा हवाई ही रहा है। अब बरोदा उप चुनाव में भाजपा-जजपा सरकार से घोटालों का हिसाब बरोदा की जनता लेगी और भारी अंतर से कांग्रेस पार्टी जितेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: