पुलिसरेवाड़ी

फर्जी रेलकर्मी बनकर 1 लाख 63 हजार रुपए धोखाधड़ी, आरोपी गिरफ्तार

सदर थाना पुलिस ने वर्ष 2019 में फर्जी रेलकर्मी बनकर एक कर्मचारी का मोबाइल नंबर वैरिफिकेशन का झांसा देकर 1 लाख 63 हजार रुपए की ठगी में शामिल आरोपी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किया गया आरोपी बिहार के जिला पूर्णियां के गांव धूसर टीकापट्‌टी निवासी शुभम कुमार के रूप में हुई है। पुलिस मामले में धोखाधड़ी कर ट्रांसफर किए गए 1 लाख 63 हजार रुपए पहले ही ट्रांसफर कर चुकी है।

जांचकर्ता ने बताया कि गांव फीदेड़ी निवासी प्रशांत यादव ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह रेलवे में कार्यरत है। उनके पास 19 अप्रैल 2019 को एक अज्ञात नंबर से कॉल आया जिसमें फोन करने वाले खुद को रेलवे के अकाउंट सेक्शन का कर्मचारी बताते हुए कहा कि आप अपने मोबाइल नंबर की डिटेल्स दीजिए जो कि सेलरी अकाउंट से जुड़ा हुआ है। इसे बैंक खाते से लिंक कराने के लिए वैरिफाई किया जाएगा।

पीड़ित ने एक बार तो मना कर दिया लेकिन शातिर ने लगातार विश्वास दिलाया कि वह रेलवे से ही बोल रहा है। इसके बाद शातिर ने बैंक खाता से जुड़ा मोबाइल नंबर वैरिफाई करने की बात कहते हुए एक लिंक भेजा और ओटीपी नंबर भी मालूम कर लिया। इसके बाद प्रशांत के खाता से 1 लाख 63 हजार रुपए की राशि ट्रांसफर कर ली।

पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने यूपीआई के जरिए आरोपी का पता लगाया तो वह बिहार का निकला। जांच को आगे बढ़ाते हुए पुलिस ने मामले में 1 लाख 63 हजार रुपए रिकवर कर लिए। पैसे रिकवर होने के बाद भी आरोपी पुलिस टीम के हाथ नहीं आ रहा था। इसी बीच सदर थाना पुलिस की एक टीम बिहार पहुंची और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को अदालत में पेश करके दो दिन के रिमांड पर लिया है।

Back to top button