पुलिसरेवाड़ी

सीआइए धारूहेड़ा ने चोरी व लूटपाट करने वाले अंतरराज्यीय शातिर बदमाश को दबोचा, दो दर्जन अधिक वारदात कर चुका है आरोपी

पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार के नेतृत्व में काम करते हुए सीआइए धारूहेड़ा ने चोरी व बुजुर्ग महिलाओं से लूट की वारदात कर रहे अंतरराज्यीय शातिर बदमाश को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी की पहचान जिला फरीदाबाद के गांव फतेहपुर निवासी चांद मोहम्मद उर्फ संजय उर्फ भूरा पुत्र अली मोहम्मद के रूप में हुई है। आरोपी पर भिवाड़ी में भी लूट व चोरी के चार मुकदमे दर्ज है। इससे अतिरिक्त दिल्ली व फरीदाबाद में भी आरोपी पर करीब दो दर्जन मुकदमे दर्ज है। पुलिस ने आरोपी से धारूहेड़ा से चोरी की गई एक स्कूटी बरामद कर ली है।

डीएसपी अमित भाटिया ने बताया कि शहर में बुजुर्ग महिलाओं को स्कूटी पर लूटपाट करने की वारदात सामने आने के बाद पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार ने सीआइए धारूहेड़ा को आरोपी की पहचान कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। जांच में सामने आया कि धारूहेड़ा से चोरी की गई स्कूटी का वारदात में प्रयोग हुआ है। सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के जरिए पुलिस ने जांच शुरू की और धारूहेड़ा सीआइए थाना की टीम ने रविवार को बार-बार वारदात कर रहे आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल कर ली।

रेवाड़ी में कर चुका है चार वारदात:

पूछताछ में आरोपी ने रेवाड़ी में चार वारदात करना स्वीकार किया है। आरोपी ने छह नवंबर को धारूहेड़ा से एक स्कूटी चोरी की थी। छह नवंबर को ही मोहल्ला जैनपुरी की रहने वाली एक बुजुर्ग महिला को स्कूटी पर लिफ्ट देकर सोने-चांदी के जेवरात छीने थे। 18 नवंबर को शहर के झज्जर चौक से नई बस्ती के रहने वाले दिलबाग सिंह से स्कूटी छीनी थी। इसके बाद 18 नवंबर को ही मोहल्ला कृष्णा नगर की रहने वाली विमला देवी से सोने की चेन व कानों की बालियां छीनी थी।

दो दर्जन से अधिक वारदात कर चुका है आरोपी

आरोपी चांद मोहम्मद उर्फ संजय उर्फ भूरा रेवाड़ी के अतिरिक्त राजस्थान के भिवाड़ी में भी लूटपाट व चोरी की चार वारदात कर चुका है। भिवाड़ी में आरोपी के विरुद्ध मामले दर्ज है। दिल्ली व फरीदाबाद में भी चोरी व लूट के 20 से अधिक मुकदमे दर्ज है। दिल्ली व फरीदाबाद के मामलों में करीब डेढ़ साल आरोपी जेल भी जा चुका है। वर्ष 2021 में दिवाली से पहले आरोपी जेल से बाहर आया था और फिर से वारदात करनी शुरू कर दी थी।

शातिर तरीके से वारदात करता था आरोपी:

डीएसपी अमित भाटिया ने बताया कि आरोपी बहुत ही शातिर है। पुलिस को चकमा देने व सबूत मिटाने के लिए हर वारदात से पहले स्कूटी चोरी या लूटता था। वारदात करने के बाद आरोपी स्कूटी को छुपा देता था। वारदात के दौरान पहने हुए कपड़ों को भी फाड़ कर फेंक देता था और हर बार नया हेलमेट खरीदता था।

लेकिन पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों और साइबर सैल की मदद से आरोपी की पहचान कर धरदबोचा। आरोपी को अदालत से पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया गया है। रिमांड के दौरान लूटी गई स्कूटी व जेवरात बरामद करने का प्रयास किया जाएगा। पूछताछ में और भी वारदातों के सामने आने की संभावना है।

Back to top button