मंडी में घंटों लाइन में खड़े रहें किसान …बोले क्यों वेरिफिकेशन के नाम पर किया जा रहा परेशान

रेवाड़ी अनाज मंडी में मंगलवार को किसानों को बाजार बेचने के लिए भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा .. पहले घंटों लाइन में खड़े होकर किसानों ने अपने दस्तावेजों का वेरिफिकेशन कराया और फिर टोकन लेने के लिए घंटों किसान लाइन में खड़े रहें ..तब जाकर कहीं बाजरा बेचने के लिए नम्बर आया ..

वेरिफिकेशन के नाम पर किसानों को परेशान करने का आरोप लगाते ये रेवाड़ी के अलग –अलग गांवों के किसान है ..जो रेवाड़ी अनाज मंडी में अपनी बाजरे की उपज बेचने के लिए पहुँचे थे ..लेकिन यहाँ वेरिफिकेशन के नाम पर सुबह से दोपहर कर दी गई . किसानों ने कहा की सुबह 6 से आठ बजे के बीच वो मंडी पहुँचे थे और अब दोपहर 2 बजे तक उन्हें लाइन में खड़े होकर इंतजार करना पड़ रहा है . आपको बता दें की जिले में मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर करीबन 47 हजार किसानों ने पंजीकरण कराया हुआ है . और उन्ही किसानों की उपज खरीदी जा रही है जिन्होंने पंजीकरण करवाया हुआ है .

वैसे तो एक अक्टूबर से 15 नवम्बर तक सरकारी खरीद किये जाने का स्ड्युल सरकार ने जारी किया हुआ था .. लेकिन सभी किसानों का नम्बर नहीं आया और अब 27 नवम्बर तक बाजरे की खरीदी मंडी में की जायेगी .. लेकिन यहाँ किसानों के लिए संकट अब इसलिए खड़ा हो गया है ..क्योंकि अबतक जिन  करीबन 41 हजार किसानों की बाजरे की उपज खरीदी गई है ..उनका किसी तरह का दौबारा वेरिफिकेशन नहीं किया गया .. और आज से किसानों के दस्तावेज दौबारा चैक किये जा रहे है ..जिसके कारण किसानों को घंटों इंतजार करना पड़ रहा है.

हालांकि सबंधित गाँव के पटवारी किसान भवन में ही वेरिफिकेशन कर रहे है ..लेकिन फिर भी किसानों को घंटों इन्तजार करना पड़ रहा है. किसानों का कहना है की अगर वेरिफिकेशन किया जाना था तो पहले क्यों नहीं किया गया . और केवल कुछ ही किसानों के लिए वेरिफिकेशन का बंधिस क्यों लगाई गई है. सोमवार को भी किसान दिनभर परेशान रहें थे क्योंकि मंडी पहुँचे किसानों की उपज नहीं खरीदी गई थी और देर शाम किसानों ने डीसी ऑफिस पहुंचकर बाजरा खरीद किये जाने की गुहार भी लगाईं थी .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: