गडकरी ने दिया 13 हजार करोड़ कि सडक़ परियोजनाओं का तोहफा

रेवाड़ी, 14 जुलाई। केंद्रीय सडक़ एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मंगलवार को हजारों करोड़ की राष्ट्रीय राजमार्ग योजनाओं का शिलान्यास कर क्षेत्र को तोहफा दिया। दक्षिण हरियाणा से जुड़ी करीब 13 हजार 800 करोड की परियोजना व हरियाणा प्रदेश की करीब 20 हजार करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया।
केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहां कि ये सडक़ परियोजनाएं हरियाणा के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होंगी। शिलान्यास कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुडक़र राव ने क्षेत्र की प्रमुख समस्याओं को भी गडकरी के सामने उठाया। इनमें कापडीवास चौक, बावल चौक, बिलासपुर चौक व मानेसर एलिवेटेड फ्लाईओवर बनाने की मांग को रखा। गडकरी ने राव की इन मांगो पर सहमति जताते हुए कहा कि इस पर कार्य चल रहा है और जल्द ही इनको भी सिरे चढ़ाया जाएगा। श्री गडकरी ने राव इंद्रजीत की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे अनेकों बार क्षेत्र की सडक़ परियोजनाओं की समस्याओं को लेकर उनसे मिलते रहे। उन्होंने इन समस्याओं को हल करने में भी अपना सहयोग मंत्रालय व अधिकारियों को दिया। गडकरी ने कहां कि राव इंद्रजीत सडक़ परियोजनाओं को लेकर धन की समस्या से कतई चिंतित ना हो, सडक़ परियोजनाओं के लिए धन जुटाने का कार्य मंत्रालय करता रहेगा।
इससे पूर्व केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने अपने संबोधन में गडकरी को हरियाणा के लिए लाखों करोड़ों रुपए की परियोजना देने पर धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि पिछले 5 वर्षों में क्षेत्र के लिए अनेक सडक़ परियोजनाओं का तोहफा मिला है उन का श्रेय नितिन गडकरी जी को जाता है। राव ने कहा कि जब भी क्षेत्र की सडक़ परियोजनाओं को लेकर गडकरी से मिले उन्होंने हमेशा समस्याओं को गंभीरता से सुना और उन्हें हल करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। आज उसी का फल है कि हरियाणा को 20 हजार करोड की सडक़ परियोजनाएं मिली हैं। जिनमें से करीब 13 हजार 800 करोड रुपए की परियोजनाएं दक्षिण हरियाणा से संबंध रखती हैं। राव ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश में सडक़ तंत्र को मजबूत किया जा रहा है। किसी भी देश का विकास वहां की सडक़ों की दशाओं पर काफी निर्भर रहता है। राव ने कहा कि इससे पूर्व भी श्री गडकरी का प्यार हरियाणा के क्षेत्र के लिए हमेशा बरसता रहा है। जिसकी बदौलत 90 हजार करोड़ सब बनने वाला दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे, 7 हजार करोड़ की लागत से बनने वाला द्वारका एक्सप्रेसवे प्रमुख योजनाओं में है। राव ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी इन सडक़ परियोजनाओं में अपना सहयोग दिया और द्वारका एक्सप्रेस योजना में आ रही कठिनाइयों को दूर करने में उन्होंने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ।
केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने बताया कि रेवाड़ी – नारनौल राष्ट्रीय राजमार्ग इसमें अटेली बाईपास व नारनौल बाईपास शामिल है। इस योजना पर करीब 2500 करोड रुपए खर्च होंगे। रेवाड़ी शहर के अंदर लगने वाले जाम की समस्या को हल करने के लिए वे प्रयासरत थे और रेवाड़ी के आउटर बाईपास योजना उन्होंने तैयार की थी। इस योजना को सिरे चढ़ाने के लिए भी पिछले वर्षों से कोशिश जारी थी। करीब 800 करोड रुपए की लागत से 14 किलोमीटर का रेवाड़ी आउटर बाईपास का निर्माण किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि महेंद्रगढ़ से चरखी दादरी, भिवानी, रोहतक, सोनीपत व कुरुक्षेत्र होते हुए चंडीगढ़ को जोडऩे वाले ग्रीन हाईवे के निर्माण में करीब 9000 करोड रुपए की लागत आएगी। सिक्स लेन के बनने वाले ग्रीन फील्ड राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण 6 पैकेज में होगा और उसके निर्माण के बाद रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, भिवानी आदि क्षेत्र के लोगों का सीधा जुड़ाव चंडीगढ़ से इस राष्ट्रीय राजमार्ग के जरिए हो जाएगा। 15 सौ करोड रुपए से बनने वाले रेवाड़ी -पटौदी गुडग़ांव एन एच 352 डब्लू राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास भी मंगलवार को हुआ। यह राष्ट्रीय राजमार्ग करीब 46 किलोमीटर की लंबाई का होगा।
राव ने कहा कि केंद्रीय सडक़ एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के आभारी हैं कि उन्होंने क्षेत्र के इन योजनाओं को मंजूरी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: