Thursday, January 20, 2022
HomeAdministrationएनजीटी की गाइडलाइन का पालन कराने के लिए बार कोड सिस्टम से...

एनजीटी की गाइडलाइन का पालन कराने के लिए बार कोड सिस्टम से होगी अस्पतालों की निगरानी

बार कोड सिस्टम से होगी अस्पतालों की निगरानी,
एनजीटी द्वारा जारी की गई गाइडलाइन को 31 जुलाई तक अस्पताल संचालक करें पूरा , सभी अस्पतालों को 15 सितंबर तक बार कोड सिस्टम अपनाना होगा .
एनजीटी की द्वारा जारी की गई गाइडलाइन का ठीक तरीके से पालन नहीं किया जा रहा है . जिलाधीश यशेंद्र सिंह ने सबंधित अधिकारीयों को गाइडलाइन का पालन कराने के निर्देश दिए है. उन्होंने कहा की रेवाड़ी जिले में 227 अस्पतालों में से 30 अस्पताल अभी ऐसे है जिन्होंने हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से अधिकृत प्रमाण पत्र नहीं लिया है। ऐसे अस्पताल 31 जुलाई तक प्रदूषण बोर्ड से ऑथराईजेशन सर्टिफिकेट ले लें, ताकि उन्हें कोई परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों को 15 सितंबर तक बार कोड सिस्टम अपनाना है ताकि ऑनलाइन मॉनिटरिंग हो सकें। उन्होंने कहा कि जिन अस्पतालों में बैड की व्यवस्था है उस अस्पताल के संचालक अस्पतालों में 30 सितंबर तक ट्रीटमेंट प्लांट लगाएं।

उपायुक्त ने नगर परिषद व एचएसआईआईडीसी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि 30 सितंबर तक डोर-टू-डोर सोलिड वेस्ट कलैक्शन का कार्य करें, शहर के सभी पार्को में 30 सितंबर तक गीला कूड़ा के ट्रीटमेंट की योजना बनाएं , उन्होंने कहा कि पार्को में वृक्षों से गिरने वाले पत्तो के लिए पार्को में ही कम्पोस्ट साईट तैयार करें . प्लास्टिक वेस्ट मैटिरियल के बारें में उन्होंने कहा कि 31 अगस्त तक वेस्ट प्लास्टिक मैटिरियल की स्टोरेज का प्रबंध करें।

उपायुक्त ने कहा कि गांवों में जितने भी पुराने तालाब है उनको ठीक कर उनमें बरसात का पानी स्टोर करें ताकि भूमि जल-स्तर ऊंचा हो सकें। उन्होंने बायोमैडिकल वेस्ट के बारे में सीएमओ व आईएमए को भी निर्देश दिए।
बैठक में डीसी ने बताया गया कि पर्यावरण विभाग द्वारा गठित टीम जिसमें सीएमओ, जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता, नगरपरिषद के कार्यकारी अधिकारी व प्रदूषण बोर्ड के अधिकारी शामिल है, यह टीम निरंतर निरीक्षण करें।

इस मौके पर एडीसी राहुल हुड्डा, एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, एसडीएम कोसली कुशल कटारिया, एसडीएम बावल रविन्द्र कुमार, सीटीएम संजीव कुमार, डीएसपी अमित भाटिया, ईओ एमसी विजयपाल, सीएमओ सुशील माही, ईओ एचएसआईआईडीसी, नगरपालिका धारूहेड़ा व बावल के सचिव समयपाल, प्रदूषण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी कमलजीत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments