रामसिंहपूरा में बने गारबेज डम्पिंग यार्ड आग लगी मिली तो नगर परिषद होगी जिम्मेवार

रेवाड़ी, 6 अक्टूबर। उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने कहा है कि रामसिंहपुरा में बनाए गए गारबेज डम्पिंग यार्ड में आग लगी तो इसके लिए नगर परिषद व नगरपालिका के अधिकारी जिम्मेवार होगें। इसके लिए नपा कार्यकारी अधिकारी व नपा सचिव चाहे इस डम्पिंग यार्ड में चौकीदार नियुक्त करें या स्प्रे का प्रबंध करें।
उपायुक्त यशेन्द्र सिंह मंगलवार को जिला सचिवालय में राष्टï्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण बोर्ड को निर्देश दिए कि यदि कोई पर्यावरण के साथ खिलवाड़ करता है तो उसके चालान किए जाएं। उन्होंने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी को निर्देश दिए कि ग्रामीण क्षेत्र में जो कबाड़ी कूड़ा-कर्कट फेंककर चले जाते है, ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही करें तथा सरपंचो को भी निर्देश दे कि वे ग्रामीणों को कूडें में आग न लगाने दे। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में भी यदि कोई ऐसे करते पाया जाता है तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएं। उन्होंने कहा कि बायॉमैडिकल वेस्ट जो निकल रहा है उसे नष्टï करने के लिए कम्पनियों द्वारा क्या इंतजाम किए जा रहे है, इस पर नजर रखी जाएं।

डीसी ने कहा कि शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में जहां पर भी कचरे व मलबे के ढ़ेर दिखाई दे, उन्हें जल्द साफ करवाया जाएं, इसके अलावा 15 अक्टूबर से लागू होने वाले ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) के लिए भी तैयारी रखें। उन्होंने कहा कि जिला में बल्क वेस्ट जनरेटर की पहचान कर एनजीटी के नियमों के अनुसार उन पर कार्य करें। यशेन्द्र सिंह ने राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) के तहत क्षेत्रीय प्रदूषण बोर्ड को पर्यावरण नियमों के पालन करने की निगरानी के निर्देश दिए। उन्होंने एनजीटी के मानदंडों और दिशानिर्देशों का पालन करने के लिए क्षेत्रीय प्रदूषण बोर्ड को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वच्छ वायु का अधिकार जीवन के अधिकार के रूप में मान्य है और वायु प्रदूषण को दूर करने में विफलता, जीवन के अधिकार से वंचित करना है।
डीसी ने सालिड वेस्ट मैनेजेमेंट जैव चिकित्सा, औद्योगिक प्रदूषण नियंत्रण, जल निकायों के संरक्षण, पॉलिथीन के उपयोग पर अंकुश लगाने के उपायों सहित जिले में पर्यावरण के मापदंडों में सुधार लाने के भी निर्देश दिए।
इस मौके पर एडीसी राहुल हुड्डïा, एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, एसडीएम कोसली कुशल कटारिया, एसडीएम बावल मनोज कुमार, ईओ एमसी विजयपाल, एचएसआईआईडीसी से वरिष्ठï प्रबंधक अशोक यादव, नगरपालिका धारूहेड़ा व बावल के सचिव समयपाल, प्रदूषण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी कुलदीप ङ्क्षसह, प्रदूषण बोर्ड के एईई मोहित मुदगिल, डीटीपी नीलम शर्मा, एचएसवीपी से गौरव यादव, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: