बावल में मिल नवजात बच्ची अमाया को मिला बाल कल्याण समिति का आसरा

बावल औद्योगिक क्षेत्र के सैक्टर-5 स्थित एक कंपनी के समीप पांच दिन पूर्व मिली नवजात कन्या को आज सामान्य अस्पताल रेवाड़ी से बाल कल्याण समिति के पालना गृह का आसरा मिल गया है। नवजात कन्या को छोडऩे में जिस मां के हाथ कांपे तक नहीं अब उसी मासूम बच्ची को पालने के लिये बाल कल्याण समिति उसका परिवार बन चुका है। उपायुक्त यशेन्द्र सिंह के निर्देश पर आज बाल कल्याण समिति ने सामान्य अस्पताल से इस बच्ची को आस्था कुंज में भेजा गया है। बाल कल्याण समिति ने इस बच्ची का नाम अमाया रखा है, जो स्वस्थ है। इस बच्ची की देखभाल आस्था कुंज में अब स्टॉफ नर्स व आस्था कुंज की आया करेगी। पांच दिन पूर्व मिली इस नवजात कन्या को पहले सीएचसी बावल में लाया गया, सीएचसी से सामान्य अस्पताल रेवाडी तथा उसके बाद बच्ची को पीजीआई रोहतक रेफर किया गया। उसके बाद 15 अक्टूबर की रात को इसे सामान्य अस्पताल रेवाड़ी वापस लाया गया। आज इस बच्ची को बाल कल्याण समिति के सदस्यों द्वारा लालन पालन किया जा रहा है।

उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने बताया कि मासूम और सुंदर दिखने वाली नवजात बच्ची का शिशु वार्ड में इसका स्वास्थ परीक्षण कर उसे आज पांच दिन बाद बाल कल्याण समिति को सौंप दिया गया, जिसे यहां के सदस्य मां का दुलार देने का पूरा प्रयास कर रहे है। उन्होंने बताया कि छह महीने बाद बच्ची को नि:संतान दम्पत्तियों द्वारा गोद लिया जा सकता है। गोद लेने के लिए प्रक्रिया ऑनलाइन है। दत्तक ग्रहण की प्रक्रिया केन्द्रीय स्तर पर केन्द्रीय दत्तक रिसोर्स अथोरटी नई दिल्ली के द्वारा की जाती है और बच्चा जब कानूनी रूप से गोद देने के लिए फ्री घोषित किया जाता है उसके बाद ही बच्चे को गोद दिया जाता है।

डीसीपीओ दीपिका यादव ने बताया कि बाल कल्याण समिति नवजात शिशुओ के लिए जीवन दान बन चुकी है। जहां अब तक आधा दर्जन से अधिक ऐसे बच्चों का लालन पालन करने के साथ ही उन्हें नि:संतान दम्पत्तियों द्वारा अपनाया जा चुका है, जिसमें पांच लडक़ी और तीन लडक़े शामिल है। अपनाने वालों में विदेशी लोग भी शामिल रहे है।  यहां यह भी बतां दे कि बाल कल्याण परिषद द्वारा चलाए जा रहे विशिष्ठ दत्तक ग्रहण ऐंजेंसी आस्था कुंज में रह रही दो वर्षीय बच्ची को मुम्बई की महिला फिल्म निर्माता ने 21 जनवरी 2020 को गोद लिया था।
इस अवसर पर जिला बाल कल्याण अधिकारी विरेन्द्र यादव, सीडब्ल्यूसी की चेयरपर्सन कुसुमलता, डीसीपीओ दीपिका, गैर सरंक्षण अधिकारी करूणा, सीडब्ल्यूसी के सदस्य अधिवक्ता अमरजीत व डॉ मनीष, उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: