राष्ट्रीय

NH 48 : एक वर्ष बाद खुल गया राजस्थान-हरियाणा बॉर्डर  

NH 48 : एक वर्ष बाद खुल गया राजस्थान-हरियाणा बॉर्डर  

रेवाड़ी अपडेट : लम्बे संघर्ष के बाद और अपनी मांगे पूरी कराने के बाद आखिरकार आन्दोलनकारी किसान वापिस अपने घर लौट रहे है और धीरे-धीरे हाइवे से किसान टेंट हटा रहे है. दिल्ली – जयपुर हाइवे पर हरियाणा – राजस्थान बॉर्डर की तस्वीरें अगर आपको दिखाएँगे तो यहाँ भी हाइवे के बीच लगे टेंटो को हटाने का काम किया जा रहा है. किसान नेता योगेन्द्र यादव आज दोपहर शाहांजाहपूर बॉर्डर पहुंचे. जिन्होंने कहा कि 13 दिसंबर को उन्होंने यहाँ आन्दोलन शुरू किया था और अब 13 दिसम्बर को पूरी तरह से हाइवे सुचारू रूप से चालू हो जाएगा.

 

आपको बता दें कि NH 48  दिल्ली –जयपुर हाइवे पर हरियाणा – राजस्थान बॉर्डर पर राजस्थान की सीमा में किसान आन्दोलन कर रहे थे. 13 दिसंबर को यहाँ आन्दोलन शुरू किया गया था. और फिर धीरे -धीरे यहाँ हाइवे के बीच करीबन 2 से 3 किलोमीटर तक किसानों ने टेंट लगा ढेरा डाला हुआ था.  जिसके कारण हरियाणा की सीमा में पुलिस ने बड़े –बड़े पत्थर और लोहे के कैन्टेनर डाले हुए थे. जिसके कारण यहाँ मिनटों का सफ़र घंटों में वाहन चालक तय करने को मजबूर थे. लेकिन अगले एक –दो दिनों में हाइवे सामान्य रूप से चालू होने जा रहा है.  जिसे लोगों को बड़ी राहत मिलेगी.

NH 48 : एक वर्ष बाद खुल गया राजस्थान-हरियाणा बॉर्डर  

 

वहीँ आज की स्थिति की बात करें तो हरियाणा की सीमा में रखे बड़े-बड़े पत्त्थर और कैन्टेंनर रेवाड़ी पुलिस ने दोपहर में हटवा दिए है. शाम को रेवाड़ी पुलिस के बैरिकेट्स भी हाइवे से हटाकर रास्ता चालू करा दिया गया है. यहाँ दिल्ली से जयपुर जाते वक्त की सर्विस लाइन पहले से चालू थी. आज दिल्ली से जयपुर जाने वाली हाइवे की लेन से किसानों ने टेंट – तंबू पूरी तरह से हटा दिए . और जयपुर से दिल्ली की तरफ जाने वाले लेन पर टेंट हटाये जाने का काम किया जा रहा है. इस साइड की सर्विस लाइन भी शाम को चालू करा दी गई है.

Show More
Back to top button