राष्ट्रीय

एटीएम कार्ड बदलकर 17 हजार की ठगी, बैंक नहीं मान रहे जिलाधीश के आदेश  

एटीएम कार्ड बदलकर 17 हजार की ठगी, बैंक नहीं मान रहे जिलाधीश के आदेश  

रेवाड़ी के धारूहेड़ा में एटीएम कार्ड बदलकर 17 हजार रूपए की ठगी करने का मामला सामने आया है. जहाँ दो शातिर ठगों ने पब्लिक हेल्थ में कार्यरत ऑपरेटर के खाते से 17 हजार 100 रूपए निकाल लियें. पुलिस ने इस मामले में धोखाधड़ी और चोरी की धाराओं के तहत केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है. गुरुग्राम के बोहडा खुर्द गाँव के रहने वाले 40 वर्षीय महाबीर सिंह ने बताया कि वो जनस्वास्थ्य विभाग में ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है. और स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया में उसका खाता है.

18 अक्टूबर की दोपहर में वो धारूहेड़ा के नंदरामपुर बांस रोड़ स्थित एक्सिस बैंक के एटीएम बूथ पर पैसे निकलवाने गए थे. जहाँ 15 हजार रूपए की ट्रांजेक्शन वो कर चुके थे . तभी दो अज्ञात युवक भी एटीएम बूथ में आ गए और मशीन से ट्रांजेक्शन स्लिप ना निकलने की बातों में उलझाकर उसका एटीएम कार्ड बदल लिया गया. और उसके खाते से 17 हजार 100 रूपए निकाल लिए गए. खाताधारक महाबीर सिंह जब घर पहुँचे और फोन पर मैसेज देखा तो पता चला की उसके साथ धोखाधड़ी की गई है.

जिसके बाद पुलिस में शिकायत दी गई और पुलिस ने दो अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है. पुलिस का कहना है कि एटीएम बूथ पर कोई गार्ड नहीं था और सीसीटीवी कैमरे लगे हुए थे . वो चालू है या नहीं उसके बारे में बैंक को लिखा गया है कि सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराये जायें.

आपको बता दें कि जिलाधीश बार – बार आदेश जारी करके ये निर्देश देते रहे है कि एटीएम बूथ पर होने वाली धोखाधड़ी को रोकने के लिए एटीएम बूथ पर सुरक्षाकर्मी और सीसीटीवी कैमरे अनिवार्य है. बावजूद इसके काफी एटीएम बूथ पर खमियां अभी भी बरकार है. जिसका फायदा ठग उठा रहे है. जरुरी है कि लापरवाह एटीएम बूथ संचालन करने वाली कम्पनी के खिलाफ एक्शन लिया जाएँ .

Back to top button