राष्ट्रीय

अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत किया जा रहा सर्वे का कार्य

अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत किया जा रहा सर्वे का कार्य

हरियाणा सरकार द्वारा मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत गरीब व जरूरतमंद लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार लाने का प्रयास किया जा रहा है। यह योजना हरियाणा सरकार की एक पहल है जिसके तहत गरीब परिवारों की पहचान की जा रही है ताकि कौशल विकास, स्वरोजगार और रोजगार सृजन के माध्यम से इन परिवारों की न्यूनतम वार्षिक आय एक लाख 80 हजार रुपये प्रति वर्ष तक बढ़ाया जा सके।

उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि आज इसी कड़ी में खोल व बावल नगर पालिका के जोनल अधिकारियों की टीम ने इस कार्य को गति देने के लिए लाभार्थी परिवारों से विभागवाईज योजनाओं की जानकारी प्रदान की ताकि लाभार्थी की रूचि अनुसार पात्र परिवार को स्ववालंबी बनाने की दिशा में कार्य किया जा सकें।

डीसी ने बताया कि जोनल इंचार्ज द्वारा सभी परिवारों से संपर्क करते हुए डोर टू डोर माध्यम से वैरीफिकेशन का कार्य किया जा रहा है। इसके पश्चात एप के माध्यम से ही संबंधित परिवारों को विभिन्न विभागों की योजनाएं उपलब्ध करवाते हुए लाभ दिया जाएगा। इस योजना से गरीब परिवारों का आर्थिक उत्थान होगा तथा उस परिवार की एक न्यूनतम आय निश्चित होगी।

उपायुक्त ने बताया कि डाटा एकत्रित होने के उपरांत ऐसे परिवारों को उनकी रूचि के हिसाब से काम दिलवाने का प्रयास किया जाएगा। इसके अलावा इन परिवारों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उनका खुद का कार्य शुरू करवाने के प्रयास किए जाएंगे और भिन्न-भिन्न विभागों की योजनाओं का लाभ दिया जाए ताकि वे स्वावलंबी बन सके।
डीसी ने बताया कि इस योजना के लिए विकास एवं पंचायत विभाग, शहरी स्थानीय विभाग, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग, पशु पालन एवं डेयरी विभाग और ग्रामीण विकास प्राधिकरण जैसे मुख्य विभागों को शामिल किया गया है।

Show More
Back to top button