Thursday, December 9, 2021
HomeNationalपेंशनर्स ऑनलाइन जमा कर सकते है जीवन प्रमाण पत्र , जाने क्या...

पेंशनर्स ऑनलाइन जमा कर सकते है जीवन प्रमाण पत्र , जाने क्या है पूरा प्रोसेस

पेंशनर्स को हर वर्ष जीवन प्रमाण पत्र यानी जिंदा रहने के सबूत पेश करने होते है. ताकि उनकी पेंशन कटे ना और उन्हें पेंशन मिलती रहें है. हर वर्ष होने वाली इस प्रकिया के कारण पेंशनभोगियों को काफी कठनाइयों का सामना करना पड़ता है. लेकिन इस बार सरकार ने पेंशनभोगियों की परेशानी को देखते हुए ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र जमा कराने की सेवा शुरू कर दी है. अब पेंशनर्स को लाइनों में खड़े होकर धक्के खाने की जरूरत नहीं है. बल्कि मोबाइल एप या वेबसाईट के जरिये ये पूरी प्रकिया की जा सकती है.

 

जाने ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र कैसे जनरेट और एक्सेस करें…

  • सरकार का Jeevan Pramaan ऐप डाउनलोड करें और register as a new user का विकल्प खोजें.
  • अपना आधार नंबर, नाम, बैंक खाता संख्या, पेंशन पेमेंट ऑर्डर (PPO) और अन्य डिटेल जमा करें. आपको एक विकल्प मिलेगा जो ऐप को एक ओटीपी भेजने के लिए प्रेरित करता है.
  • आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा. ओटीपी दर्ज करें और इसे आधार का उपयोग करके प्रमाणित किया जाना चाहिए.
  • वैलिडेशन के बाद, सबमिट विकल्प पर क्लिक करें और एक प्रमाण आईडी जनरेट होगी.
  • ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र कैसे जनरेट करें
  • प्रमाण आईडी जनरेट होने के बाद दूसरे ओटीपी के माध्यम से ऐप में लॉगिन करें.
  • ‘जेनरेट जीवन प्रमाण’ विकल्प पर क्लिक करें और आधार और मोबाइल नंबर दर्ज करें
  • जनरेट ओटीपी विकल्प पर क्लिक करें और इसे दर्ज करें और पीपीओ नंबर, वितरण एजेंसी का नाम, नाम और अन्य विवरण दर्ज करने के लिए आगे बढ़ें.
  • आधार डेटा का उपयोग करके उपयोगकर्ता के फिंगरप्रिंट और आईरिस को स्कैन करके प्रमाणित करें.
  • जीवन प्रमाण विंडो पर दिखाई देगा और पेंशनभोगी को रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए एक कंफर्मेशन मैसेज मिलेगा.

 

ऐसे जमा करें प्रमाण पत्र – ऑनलाइन करें जमा

जीवन प्रमाण पत्र को जीवन प्रमाण वेबसाइट (https://jeevanpramaan.gov.in/) या ऐप के माध्यम से डिजिटल रूप से जमा किया जा सकता है. प्रक्रिया के लिए खुद को रजिस्टर कराना होता है. इसके लिए सबसे पहले जीवन प्रमाण मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करना होगा. यहां आवेदक को अपना आधार नंबर, पेंशन भुगतान आदेश या PPO, बैंक खाता संख्या, बैंक का नाम और मोबाइल नंबर जमा करना होगा.

यह पोर्टल बायोमेट्रिक वेरिफिकेशन के लिए आधार प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है और आवेदक को पहचान के लिए अपना फिंगरप्रिंट जमा करना होता है. यहां वेरिफिकेशन के बाद, जीवन प्रमाण पोर्टल रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक SMS भेजेगा, जिसमें जीवन प्रमाण पत्र आईडी होता है. उसके बाद, आईडी जमा करके जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त किया जा सकता है.

 

डोरस्टेप बैंकिंग से DLC जमा करें

जीवन प्रमाण पत्र डोरस्टेप बैंकिंग (DSB) द्वारा भी जमा किया जा सकता है, जो 12 सरकारी बैंकों के बीच गठबंधन है. भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक और अन्य इस गठबंधन का हिस्सा हैं. डोरस्टेप बैंकिंग सर्विस का लाभ उठाने के लिए Google Playstore से अपने मोबाइल फोन पर डोरस्टेप बैंकिंग ऐप डाउनलोड करना होगा, या वेबसाइट https://doorstepbanks.com/ पर जाना होगा.

इसके बाद, पेंशनर को अपने बैंक में जाना होगा और जीवन प्रमाण पत्र जमा करने के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सेवा का लाभ उठाने का आवेदन देना होगा. ऐसा करने के बाद, आपको अपना पेंशन खाता नंबर दर्ज करना होगा, इसे वेरिफाई करना होगा और सेवा के लिए मामूली शुल्क देना होगा. एक बार यह हो जाने के बाद, पेंशनर को बैंक एजेंट के नाम के साथ एक SMS प्राप्त होगा जो DLC जमा करने की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आएगा. एक बार एजेंट के घर पर आने के बाद आगे की प्रक्रिया पूरी की जा सकती है.

 

पोस्टमैन से भी हो जाएगा काम

इस प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए, डाक विभाग ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ मिलकर पिछले साल नवंबर में डाकिया के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जमा करने के लिए डोरस्टेप सेवा शुरू की. इस प्रक्रिया में पेंशनर को पोस्टइन्फो डाउनलोड करना होगा. यह एक चार्जेबल सर्विस है और देश भर में केंद्र सरकार के सभी पेंशनर के लिए उपलब्ध है, भले ही उनके पेंशन खाते अलग-अलग बैंक में हों.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments