ब्रेकिंग न्यूजहरियाणा

अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों के लिए धार्मिक स्थलों का भ्रमण करने का मौका, पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर होगा पंजीकरण

महान संतों से जुड़े स्थलों का भ्रमण करने व उनसे संबंधित दिवसों के उपलक्ष्य में समारोह का आयोजन करने के लिए 15 दिसंबर 2022 तक आवेदन मांगे गए हैं।

आजादी के अमृत महोत्सव श्रृंखला के तहत अनुसूचित जातियां एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग हरियाणा द्वारा महान संतों से जुड़े स्थलों का भ्रमण करने व उनसे संबंधित दिवसों के उपलक्ष्य में समारोह का आयोजन करने के लिए 15 दिसंबर 2022 तक आवेदन मांगे गए हैं। अनुसूचित जाति से संबंधित लाभार्थी अंत्योदय सरल केंद्र के जरिए आवेदन कर सकते हैं।

सरकारी प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि संतों से जुड़े स्थलों का भ्रमण करने वाले आवेदक को आवेदन के साथ जाति प्रमाण पत्र,निवास प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, वोट कार्ड के साथ ही गैर सरकारी कर्मचारी होने का प्रमाण पत्र संलग्न करना अनिवार्य होगा।उन्होंने स्पष्ट किया कि अनुसूचित जातियां एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग हरियाणा द्वारा प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र से 100 लाभार्थियों को इसका लाभ प्रदान किया जाएगा।

आवेदक हरियाणा का स्थाई निवासी होना चाहिए तथा किसी सरकारी उपक्रम संगठन व प्राधिकरण का कर्मचारी नहीं होना चाहिए।उन्होंने बताया कि आवेदकों का पंजीकरण पहले आओ,पहले पाओ के आधार पर होगा।

लाभार्थी को सरकार द्वारा एक हजार रुपए की राशि अथवा द्वितीय श्रेणी की ट्रेन टिकट व आने जाने के वास्तविक व्यय जो भी कम हो,की अदायगी की जाएगी। उन्होंने इच्छुक प्रार्थियों से सरकार के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम का लाभ उठाने का आह्वान किया है।

 

Back to top button