शिक्षाहरियाणा

हरियाणा में आईटीआई के छात्रों की विदेशों में प्लेसमेंट सैल स्थापित करने पर हो रहा विचार

विभाग औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के छात्रों की विदेशों में प्लेसमेंट पर काम करें। इसके लिए विभाग फॉरेन प्लेसमेंट सैल स्थापित करने पर भी कार्य करें। उन्होंने कहा कि आज अच्छे स्किल के प्रशिक्षित युवाओं की हर देश में आवश्यकता है, विभाग को इस विषय पर आगे बढ़ना चाहिए, ताकि ज्यादा से ज्यादा युवाओं को विदेशों में रोजगार मिले।

कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के मंत्री मूलचंद शर्मा ने निर्देश दिए कि विभाग औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के छात्रों की विदेशों में प्लेसमेंट पर काम करें। इसके लिए विभाग फॉरेन प्लेसमेंट सैल स्थापित करने पर भी कार्य करें। उन्होंने कहा कि आज अच्छे स्किल के प्रशिक्षित युवाओं की हर देश में आवश्यकता है, विभाग को इस विषय पर आगे बढ़ना चाहिए, ताकि ज्यादा से ज्यादा युवाओं को विदेशों में रोजगार मिले। मूलचंद शर्मा बुधवार को कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के अधिकारियों की बैठक के दौरान बोल रहे थे।

मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि विभाग को आईटीआई की गुणवत्ता को सुधारने पर विशेषतौर पर ध्यान देना चाहिए। प्रदेशभर की आईटीआई को लगातार अपग्रेड किया जाए। यहां प्रशिक्षण के लिए इस्तेमाल होने वाली मशीनरी को औद्योगिक मांग के मुताबिक अपग्रेड किया जाए। इसके साथ-साथ आईटीआई के इन्फ्रास्ट्रक्चर में भी सुधार हो। सभी आईटीआई में कंप्यूटर रखे जाएं।

उन्होंने कहा कि विदेशों में तकनीक आधारित नौकरियों की भरमार है, विभाग के आला अधिकारी विदेशी कंपनियों से संपर्क साधे और उनके यहां कर्मचारियों की डिमांड का अध्ययन करें। इसके पश्चात यह भी विशलेषण करें कि उनके यहां काम करने वाले कर्मचारियों को किस तरह के स्किल चाहिए। इन तथ्यों का विशलेषण करने के बाद प्रदेश की सभी आईटीआई में इस तरह के स्किल पर काम किया जाए और छात्रों में विदेशों के मुताबिक स्किल डेवलेप किए जाए।

मुख्यमंत्री की घोषणाओं से जुड़े कार्य जल्द से जल्द हों पूरे

मूलचंद शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल की घोषणाओं से जुड़े विकासकार्यों को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। अधिकारी विभाग को आगे बढ़ाने के लिए कार्य करें, सरकार की तरफ से बजट की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वयं यह आश्वासन दे चुके हैं कि विभाग स्किल डेवलेपमेंट पर प्राथमिकता से कार्य करे, किसी तरह की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

विदेश और हमारे यहां के स्किल गैप को भरा जाए

मूलचंद शर्मा ने कहा कि स्किल डेवलेपमेंट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन है। आज बेहतर स्किल की हर जगह डिमांड है। विभाग के अधिकारी हमारे यहां की आईटीआई और विदेशों की इंडस्ट्री के स्किल गैप को जाने और इस गैप को कम करने का काम करें। उन्होंने इस संबंध में एक कमेटी बनाने के निर्देश भी दिए हैं, जो आईटीआई की ट्रेड अनुसार छात्रों में स्किल बढ़ाने के विषय पर अध्ययन कर, उसे आगे बढ़ाने के लिए कार्य करे। मूलचंद शर्मा ने कहा कि हमें प्रदेश में आईटीआई के छात्रों के लिए रोजगारपरक माहौल बनाना है।

ग्रुप-बी के सेवा नियम जल्द से जल्द किए जाएं तैयार

मंत्री मूलचंद शर्मा ने विभाग के आला अधिकारियों को निर्देश दिए कि समय-समय पर प्रदेश की प्राइवेट आईटीआई में भी अधिकारी स्वयं जाकर चैकिंग करें। जिन आईटीआई में कमियां नजर आएं, उन आईटीआई को तत्काल नोटिस जारी किया जाए। उन्होंने कहा कि आईटीआई के छात्रों को गुणवत्तापरक शिक्षा व प्रशिक्षण दिलवाना उनके विभाग का महत्वपूर्ण कार्य है। मंत्री ने जल्द से जल्द कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के ग्रुप-बी के सेवा नियम तैयार करने के भी निर्देश दिए ताकि विभाग में नई भर्ती की जा सके। मंत्री ने आईटीआई में वर्ग अनुदेशक और अनुदेशक के पदों पर जल्द से जल्द ज्वाइनिंग करवाने के भी निर्देश दिए।

बैठक के दौरान हरियाणा कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के आयुक्त एवं सचिव  विजय सिंह दहिया, कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के निदेशक यशेंद्र सिंह व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

Back to top button