हरियाणा

गुरुग्राम में नगर निगम के सर्वे में अवैध और असुरक्षित इमारतों की हुई पहचान,पढ़े डिटेल

गुरुग्राम में नगर निगम के सर्वे में अवैध और असुरक्षित इमारतों की हुई पहचान,पढ़े डिटेल

गुरुग्राम के सेक्टर-109 स्थित चिंटल्स पैराडिसो सोसाइटी में होने वाले हादसे के बाद से सरकारी विभाग काफी सक्रिय हो गया है.नगर निगम द्वारा हाल ही में किए गए सर्वे में 555 असुरक्षित अवैध इमारतों की पहचान की गई है। इनमें रिहायशी के अलावा व्यावसायिक इमारतें भी शामिल हैं।

 

निगम अधिकारियों के अनुसार इन भवनों पर जल्द सीलिंग की कार्रवाई की जा सकती है। निगमायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि सेक्टर-109 की सोसाइटी में जो हादसा हुआ है ऐसा हादसा अवैध रूप से बने इन भवनों में नहीं हो, इसके लिए तैयारी की जा रही है। अवैध रूप से बने बहुमंजिला भवन जहां लोग रह रहे हैं उनका स्ट्रक्चरल ऑडिट भी करवाया जाएगा।

गुरुग्राम में नगर निगम के सर्वे में अवैध और असुरक्षित इमारतों की हुई पहचान,पढ़े डिटेल

बता दें कि 10 फरवरी को सेक्टर-109 की चिंटल्स पैराडिसो सोसाइटी में 18 मंजिला टावर की छठी से दूसरी मंजिल तक के फ्लैट का लेंटर टूट कर गिया गया था। इस हादसे में दो महिलाओं की मौत हो गई थी, जबकि एक व्यक्ति को 16 घंटे के रेस्क्यू के बाद सकुशल बाहर निकाला गया था। इस हादसे से सबक लेते हुए नगर निगम ने भी अपने क्षेत्र में अवैध रूप से बनी बहुमंजिला इमारतों का सर्वे करवाया है।

 

निगमायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने 16 फरवरी को निगम के चारों संयुक्त आयुक्त और इनफोर्समेंट टीम की बैठक लेकर उन्हें शहर में अवैध रूप से बनी इमारतों का सर्वे करने के निर्देश दिए थे। टीम ने सर्वे पूरा कर निगमायुक्त को इनकी सूची सौंप दी है। करीब 555 असुरक्षित इमारतों की पहचान की गई है।

 

सर्वे के अनुसार सबसे ज्यादा अवैध इमारत नगर निगम के जोन-3 में बनी हुई हैं। नए गुरुग्राम के इलाके इस जोन में शामिल हैं। निगम अधिकारियों के अनुसार यह इन इमारतों में न स्ट्रक्टरचल ऑडिट की रिपोर्ट लगी है, न फायर एनओसी ली गई है। निगम से नक्शा भी पास नहीं है। जोन-1 में करीब 150 असुरक्षित इमारतें, जोन-2 में 51, जोन-3 में 259 और जोन-4 में 95 असुरक्षित इमारतों की सर्वे में पहचान हुई है।

 

80 जर्जर भवन चिह्नित

नगर निगम की तरफ से एक निजी एजेंसी से शहर में जर्जर भवनों का भी सर्वे करवाया गया है। 183 इमारतों में से 80 को असुरक्षित और जर्जर हालत में बताया गया है। वहीं 72 इमारत को फिलहाल रहने के लिए सुरक्षित घोषित किया है। 31 इमारत ऐसी है जिसका मुआयना करना बाकी है।

 

कहाँ-कहाँ बने हैं असुरक्षित भवन

भीमनगर, जैकबपुर, सुभाष नगर, नया बाजार, गोपाल नगर, नई बस्ती, चक्करपुर, सिंकदरपुर, राजेंद्रा पार्क, लक्ष्मण विहार, कृष्णा कॉलोनी, भीम नगर, शिवाजी नगर, मियां वाली कॉलोनी, पटेल नगर, दयानंद कॉलोनी, न्यू कॉलोनी समेत दर्जनों स्थानों पर अवैध और असुरक्षित भवन बने हुए हैं।

 

source: live hindustan

Back to top button