Thursday, December 9, 2021
HomeNationalपांच तरीकों से होम लोन की EMI को करें कम,जानें तरीका

पांच तरीकों से होम लोन की EMI को करें कम,जानें तरीका

Home Loan EMI: जब भी हमें होम लोन लेना होता है तो हम ऐसे बैंक की तलाश करते है जो हमें सबसे कम ब्याज दर पर लोन देने के लिए तैयार होता है .हम जो भी होम लोन लेते है वह अक्सर 15-20 वर्षों तक चलता रहता है।अगर हम होम लोन लेते है तो हमें पर्याप्त होमवर्क करना होता है अगर यह नही करते है तो यह हमें महंगा भी पड़ सकता है .

 

 

  1. सबसे कम ब्याज दरे

सबसे पहले आप 5 -7 लेंडर्स को शॉर्टलिस्ट कर ले. अगर आप ऑनलाइन सर्च करते है तो आपको वहां पर काफी बैंक और हाउसिंग फाइनेंस कंपनि‍यों की लिस्‍ट सामने आ जाएगी। जिसमें उनकी होम लोन की ब्‍याज दरें भी होंगी।सबसे पहले आपको कम से कम 5-7 लेंडर्स को शॉर्टलिस्ट करना होगा और फिर सबसे कम ब्याज दर के लिए उनके नियमों और शर्तों को देखना होगा. यदि आपको उपयुक्त लेंडर मिल जाए तो कम ब्याज दर आपको अपनी ईएमआई कम करने में मदद करेगी.

 

  1. बैंक की नेगेटिव लिस्‍ट

अगर आपने ऐसे लेंडर को शॉर्टलिस्‍ट कर भी लिया हो, जो आपको सबसे कम ब्याज दरों पर होम लोन देगा.लेकिन उससे पहले हमें ये देखना होगा कही जो संपत्ति हम खरीद रहे है वो उस बैंक की नेगेटिव लिस्‍ट में तो नहीं है. इसके लिए पहले आपको सही सम्पत्ति का चयन करना बहुत जरुरी है .

  1. अधिक से अधिक डाउनपेमेंट
    अधिकांश लेंडर उन बोरोअर्स को सबसे कम ब्याज दर देते हैं जो ज्‍यादा से ज्‍यादा डाउनपेमेंट करके लोन टू वैल्‍यू रेश्‍यो को कम रखते हैं। इसलिए, यदि आप 25 फीसदी से अधिक का डाउनपेमेंट कर सकते हैं, तो आप लेंडर द्वारा दी जाने वाली न्यूनतम दर प्राप्त कर सकते हैं। तो एक उच्च डाउनपेमेंट न केवल बकाया राशि को कम रखकर आपकी ईएमआई को कम करता है, यह आपको लोन कम ब्याज दर भी प्राप्त कर सकता है।

 

  1. होम लोन लंबे समय के लिए लें

ईएमआई को कम रखने का एक और ऑप्‍शन भी है और वो है लोन का टेन्‍योर लंबा रखना। उदाहरण के लिए, यदि आप 7.5 फीसदी वार्षिक ब्याज दर पर 20 साल की अवधि के साथ 40 लाख रुपए का होम लोन ले रहे हैं, तो आपकी ईएमआई 32,224 रुपये होगी। हालांकि, अगर आप 25 साल के टेन्‍योर के लिए जाते हैं तो ईएमआई 29,560 रुपये हो जाती है और 30 साल के टेन्‍योर के मामले में ईएमआई 27,969 रुपये होगी। हालांकि, लोन का टेन्‍योर जितना लंबा होगा, कुल ब्याज भुगतान उतना ही अधिक होगा। तो, यह आपका अंतिम उपाय होना चाहिए। इसके अलावा, जिस क्षण आप अधिक ईएमआई राशि का भुगतान कर सकते हैं, आपको लोन का re-structuring करना चाहिए और कार्यकाल को कम करना चाहिए, या partial prior भुगतान करना शुरू करना चाहिए।

 

  1. होम सेवर लोन
    यदि आपकी आय में उतार-चढ़ाव है और आप कुछ महीनों के लिए लचीलेपन की तलाश में हैं, जब आपको कम ईएमआई राशि का भुगतान करना होगा, तो होम सेवर लोन एक विकल्प हो सकता है। ये ओवरड्राफ्ट सुविधा के समान हैं, जहां आपका न्यूनतम दायित्व केवल मासिक ब्याज का भुगतान करना रहता है। इसलिए, कुछ महीनों में आप अपने मासिक भुगतान को केवल ब्याज राशि तक कम कर सकते हैं और जब भी आप सहज हों तो आप मूल बकाया राशि को कम करने के लिए अधिक राशि का भुगतान करना शुरू कर सकते हैं। यह उन व्यवसायियों और पेशेवरों के लिए उपयुक्त हो सकता है जिनकी इनकम में उतार चढ़ाव होता रहता है।

source: Asianet news

 

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments