Thursday, December 9, 2021
HomeRewariसात सालों में सात हजार करोड़ का रेवाड़ी में हुआ विकास कार्य...

सात सालों में सात हजार करोड़ का रेवाड़ी में हुआ विकास कार्य – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज रेवाड़ी पहुंचे, जहाँ बावल कि सब्जी मंडी स्थित हरियाणा प्रगति रैली से मुख्यमंत्री ने रेवाड़ी जिले के करीबन साढ़े तीन सौ करोड़ रूपए के विकास कार्यों का शिलान्यास और उद्घाटन किया.  मुख्यमंत्री ने 5 विकास कार्यों के उद्घाटन और 14 विकास कार्यों के शिलान्यास किये है. साथ ही रैली को संबोधित करते हुए कहा कि सात सालों में रेवाड़ी जिले में सात हजार करोड़ के विकास कार्यों का काम किया गया है और केवल बावल में साढ़े 22 सौ करोड़ के विकास कार्य किये गए है. जो डिमांड क्षेत्र के प्रतनिधियों ने रखी है उसकी फिजिबलटी चैक पूरी कराई जायेगी.

 

आपको बता दें कि राव बिरेन्द्र सिंह इंजीनियरिंग कालेज जैनाबाद में कैंटीन ब्लॉक,  गांव रामपुरा व गांव बास बिटौडी में 33केवी सब स्टेशन, बावल रेलवे स्टेशन रोड़ पर रेलवे ओवर ब्रिज व सीसीएस एचएयू कृषि कालेज बावल स्थित ब्वायज होस्टल के विकास कार्यों का मुख्यमंत्री ने आज उद्घाटन किया है.

इसी तरह से मुख्यमंत्री ने भडंगी राजगढ़ से धारण फिरनी रोड़ , नंदरामपुरबांस-जड़थल से नंदरामपुरबास गढ़ी रोड़, राजगढ़ से कुतीना राजस्थान बोर्डर रोड़ , काठूवास से बोलनी रोड़ , रेवाड़ी कोटकासिम रोड़ से लौधाना और खेड़ी मोतला वाटर वर्क्स से लोक निर्माण रोड़ तक गढ़ी से बग्थला सड़क निर्माण कार्य, करावरा मानकपुर से नूरपुर, नांगल कुमरोधा से मोतला कलां व शादीपुर से जखाला की ढाणी तक सड़क मार्ग का शिलान्यास किया है। इसके अतिरिक्त राजकीय महिला महाविद्यालय बावल के नए भवन की आधारशिला , रेवाड़ी-शाहजांहपुर रोड़ का चौड़ीकरण, लेवल क्रासिंग 61 रेवाड़ी-अलवर-जयपुर रेलवे लाइन पर भाडावास फाटक पर चार मार्गीय रेलवे ओवर ब्रिज और  गांव रामपुरा में वेयरहाउस कॉम्पलैक्स व ऑयल मिल विकास कार्यो कि आधारशिला रखी है.

वहीँ बीजेपी सरकार पर भर्ती प्रकिया में लगाये जा रहे भ्रष्टाचार के आरोपों पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विपक्षियो का जवाब देते हुए कहा कि उनकी सरकार भ्रष्टाचारियों पर शिंकजा कस रही है. इसलिए पेपर लीक करने वाले हो या किसी दुसरे रूप से भ्रष्टाचार करने वाले हर किसी को सलाखों के पीछे भेजा जा रहा है. लेकिन कांग्रेस कार्यकाल में तो अधिंकाश भर्ती ही गलत तरीके से की गई . जिन्हें कोर्ट ने भी रद्द कर दिया. जबकि उनकी एक भी भर्ती कोर्ट ने रद्द नहीं की है.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments