संकट काल में संकट मोचन तब दुःख हरेंगे जब हम सावधानी बरतेंगे

कोरोना की तीसरी लहर का ख़तरा अभी बना हुआ है . ऐसे में हमारी लापरवाही एक बड़ी आफत को दावत दे सकती है. लेकिन इस बात कि परवाह ना करते हुए संक्रमण के बचाव और सरकार की गाइडलाइन का कहीं भी पालन नहीं हो रहा है. कहने को तो मंदिर में पूजा के लिए नियम शर्तों पर सिमित लोग एकत्रित होने की अनुमति दी गई है. लेकिन मंदिर में श्रद्धालु बड़ी संख्या में पहुँच रहे है. जहाँ कॉविड के नियमों का जिक्र तो किया जा रहा है लेकिन कोई पालन नहीं कर रहा है .

रेवाड़ी शहर के प्राचीन श्री हनुमान जी के मंदिर में आज असाढ़ के पहले मंगलवार होने के चलते बड़ी संख्या में श्रद्धालु बाबा के दर्जन करने पहुँचे , मंदिर में पहुँची भीड़ कोरोना काल में डर पैदा करती है कि कहीं संक्रमण का खतरा दौबारा ना बढ़ जायें . मंदिर में पहुँचे श्रद्धालु बाबा के दर्शन करके ये मन्नत मांग रहे है कि कोरोना के संकट से बाबा जल्द मुक्ति दिलायें ,

लेकिन लोगों को ये समझना पड़ेगा कि इस संकट से मुक्ति तभी मिलेगी जब ईश्वर की कृपा के साथ साथ हम सब संक्रमण के बचाव के लिए सावधानी बरतेंगे. लेकिन फिलहाल ऐसा हो नहीं रहा है . और सभी ऐसे व्यवहार कर रहे है .जैसे कि कोरोना चला गया है . ऐसे में हम सब एक बड़ी भूल करके नई आफत को दावत दे रहे है . जरुरी है कि प्रशासन कोरोना के नियमों का पालन कराएँ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: