Friday, January 21, 2022
HomeHaryanaनारनौल जेल का रिश्वतखोरी मामला , 5 घंटे बाद खुला घर का...

नारनौल जेल का रिश्वतखोरी मामला , 5 घंटे बाद खुला घर का दरवाजा, नहीं मिले जेल सुप्रिडेंट

रेवाड़ी अपडेट: नारनौल जेल के रिश्वतखोरी मामले में विजिलेंस टीम आज अलसुबह रेवाड़ी जेल सुप्रिडेंट को जाँच में शामिल करने के लिए रेवाड़ी पहुंची. लेकिन जेल सुप्रिडेंट के परिवार ने घर का दरवाजा नहीं खोला. जिसके बाद किसी वकील के माध्यम से चार घंटे बाद दरवाजा खुलवाया गया. और घर की तलाशी ली गई. जहाँ ना जेल सुप्रिडेंट अनिल जांगड़ा मिले और कोई अन्य सुराग टीम के हाथ लगे. जिसके बाद विजिलेंस टीम बेरंग वापिस लौट गई.

 

बता दे कि 9 दिसंबर को विजिलेंस गुरुग्राम यूनिट ने नारनौल जेल में रेड की थी। उस वक्त जेल वार्डन राजन को एक लाख की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया गया था। रिश्वत की रकम हरियाणा- राजस्थान के नामी गैंगेस्टर विक्रम उर्फ पपला गुर्जर के खास गुर्गे संदीप उर्फ सिंधिया के भाई हंसराज से ली गई थी । उस वक्त जेल के अन्य वार्डन गजे सिंह का नाम भी सामने आया था। विजिलेंस टीम ने गजे सिंह को भी गिरफ्तार किया था।

दोनों से सख्ती से हुई पूछताछ के बाद नारनौल जेल के डिप्टी सुप्रिडेंट कुलदीप हुड्डा व नारनौल जेल का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे रेवाड़ी जेल सुप्रिडेंट अनिल कुमार का भी नाम सामने आया था। विजिलेंस टीम द्वारा 7pc एक्ट के तहत दर्ज की गई एफआईआर में जेल वार्डन राजन व गजे सिंह के अलावा नारनौल जेल के डिप्टी कुलदीप हुड्डा को भी नामजद किया गया था।

 

जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ी उसमें जिला जेल अधीक्षक अनिल कुमार का नाम भी जुड़ गया। अब उसी आधार पर विजिलेंस टीम ने बुधवार की अलसुबह करीब 5:00 बजे रेवाड़ी स्थित जेल सुप्रिडेंट अनिल कुमार के घर पर रेड की। दिल्ली रोड स्थित फिदेड़ी जिला जेल स्थित जेल सुप्रिडेंट का निवास स्थान है. जहाँ घंटों विजिलेंस टीम घर का दरवाजा खुलने के इन्तजार में खड़ी रही. विजिलेंस टीम जेल सुप्रिडेंट अनिल कुमार से पूछताछ करने पहुंची थी.

काफी लम्बे इन्तजार में बाद दरवाजा खुलवाने के बाद मकान के अंदर अनिल की पत्नी, माँ , साली और बेटा मौजूद था. लेकिन अनिल कुमार टीम को नहीं मिले. विजिलेंस टीम ने मकान की तलाशी भी ली गई. लेकिन कोई सुराग टीम के हाथ नहीं लगे. परिवार से पूछताछ में सामने आया कि जेल सुप्रिडेंट अनिल कुमार रात दस बजे ही घर से चले गए थे. और वो कहाँ गए है उसकी किसी को जानकारी नहीं है.

आपको बता दें कि इस मामले में 2 लोगों विजिलेंस टीम पहले गिरफ्तार कर चुकी है. जबकि तीसरे नामजद आरोपी नारनौल जेल डिप्टी सुप्रिडेंट कुलदीप हुड्डा ने गिरफ्तारी से बचने के लिए नारनौल स्थित अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश की कोर्ट में अग्रिम जमानत भी लगाई हुई। जिस पर आज सुनवाई होनी है। वहीँ जेल सुप्रिडेंट अनिल कुमार अभी जाँच में शामिल होने से भाग रहे है. शायद उन्हें लग रहा है कि एक बार जाँच में शामिल हुए तो गिरफ्तारी भी पक्की है.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments