Thursday, January 20, 2022
HomeHaryanaकृषि बिलों पर पक्ष -विपक्ष क्या कह रहा समझें

कृषि बिलों पर पक्ष -विपक्ष क्या कह रहा समझें

कृषि बिलों को लेकर विपक्ष और किसान संगठन बीजेपी सरकार को घेरने में लगे है ..वहीँ बिलों के समर्थन में बीजेपी नेता ये कहा रहे है अगर किसी ने किसानों की सोची है तो वो बीजेपी सरकार  है …क्योंकि इन कृषि बिलों से  किसानों का उद्धार होने वाला है. ये बिल किस तरह किसान हितेषी है , ये समझाने के लिए आज रेवाड़ी में बीजेपी जिलाध्यक्ष कुछ किसानों को साथ लेकर मीडिया के सामने आये और कहा की विपक्ष जनता को केवल गुमराह कर रहा है .. वहीँ बीजेपी ऑफिस पहुंचे किसानों ने भी बिलों का समर्थन करते हुए बीजेपी सरकार की तारीफ की .

आपको बता दें की विपक्ष का आरोप है की एमएसपी खत्म हो जायेगी …जिसपर बीजेपी का कहना है की एमएसपी पर बाजरा ख़रीदा जा रहा है . जिस से ये साफ़ है की विपक्ष झूठ फैला रहा है .. जबकि सच ये है की एमएसपी लागू रहेगी …

विपक्ष कह रहा है की जरूरत पड़ने पर किसानों का कोर्ट जाने का रास्ता सरकार ने बंद कर दिया है …जिसपर सरकार का कहना है की कोर्ट का रास्ता खुला है ..केवल प्राथमिक तौर पर एसडीएस किसानों की समस्या का निदान करेंगे ..व्यापारी और किसान के बीच कोई झगडा होता है तो मामले को सुलझाने के लिए एसडीएम के नेतृत्व वाली कमेटी में दो किसान और दो व्यापारी शामिल रहेंगे .

वहीँ भंडारन करने की छूट के कानून पर विपक्ष कह रहा है इस से काला बाजारी बढ़ेगी और महंगाई बढ़ेगी . जिसपर सरकार का तर्क है की जिन वस्तु का उत्पादन ज्यादा है उसको आवश्यक वस्तु से बाहर किया गया ..उससे किसानों का फायदा होगा .  जहाँ कालाबाजारी की बात कहीं जा रही है ..तो कानून में प्रावधान है की अगर महंगाई बढती है तो सरकार के पास अधिकार है की वो भण्डारण को जब्त करके मार्किट में दें .

कुल मिलाकर विपक्ष की नजर में ये कानून किसान विरोधी है और सरकार की नजर से ये कानून किसानों की जिन्दगी बदलने वाला है ..ऐसे में इस कानून पर आपकी राय क्या है आप कॉमेंट्स जरुर करें .

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments