Home हरियाणा गर्मी के मौसम (summer season) में बिजली, पेयजल व सिंचाई के लिए...

गर्मी के मौसम (summer season) में बिजली, पेयजल व सिंचाई के लिए पानी की होगी पूरी व्यवस्था: मुख्य सचिव

4
0
summer

Summer Season: हरियाणा सरकार के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने निर्देश देते हुए कहा कि तापमान में वृद्धि को देखते हुए बिजली, पेयजल व सिंचाई के लिए पानी की निर्बाध आपूर्ति के लिए सभी संबंधित विभाग अपनी पूरी तैयारी रखें ताकि किसी भी प्रकार से आमजन को कोई असुविधा का सामना न करना पड़े। इसके अलावा, हीट वेव (summer) के कारण होने वाली बीमारियों के बचाव के लिए भी स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह मुस्तैद रहे। साथ ही, हीट वेव के कारण फसली नुकसान न हो, इस पर भी संबंधित विभाग पूरी निगरानी रखे।

कौशल ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता पीने के पानी की है। तत्पश्चात सिंचाई के लिए पानी की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। इसलिए जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी तथा सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारी पानी की उपलब्धता व उसका उचित उपयोग सुनिश्चित करें और तथा फील्ड अधिकारियों के लिए एसओपी भी जारी करें।

उन्होंने सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश देते हुए कहा कि पानी की चोरी को रोकना एक बड़ी चुनौती है, इसलिए वे अपने क्षेत्रों में पानी की चोरी की घटनाओं पर निगरानी रखें। यदि ऐसी कोई घटना घटित होती है, तो तुरंत उस पर कार्रवाई करें। इसके लिए विशेष टीमें भी गठित की जा सकती हैं।

इसके अलावा, सभी जिला उपायुक्त हर 15 दिन में संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक करें, ताकि जिले में पानी की उपलब्धता की वास्तविक स्थिति का पता लग सके और यदि कहीं पानी की कमी की संभावना बनती है तो तुरंत उसकी सूचना मुख्यालय को दें। उन्होंने कहा कि हीट वेव व हीट स्ट्रोक से नागरिकों के बचाव के लिए व्यापक प्रबंध किए जाने चाहिए। साथ ही, गर्मी (summer) में आगजनी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के मद्देनजर फायर ऑडिट कराने के भी निर्देश दिए।

मुख्य सचिव ने कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हीट वेव के चलते गेहूं या अन्य कोई सीज़नल फसल खराब न हो, इसके लिए विभाग लगातार निगरानी रखें और किसानों को सिंचाई के तौर-तरीकों सहित अन्य आवश्यक जानकारियों सहित समय-समय पर एडवाइजरी भी जारी की जाए।

बिजली की उपलब्धता में कोई कमी नहीं

बिजली निगमों के चेयरमैन पी के दास ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में बिजली की उपलब्धता में कोई कमी नहीं है मांग के अनुसार बिजली की आपूर्ति की जा रही है। आगामी गर्मी (summer) के मौसम के दौरान मई, जून व जुलाई माह के दौरान अतिरिक्त बिजली की मांग उत्पन्न होती है, जिसके लिए अभी से व्यवस्था कर ली गई है। उन्होंने बताया कि रबी सीजन के दौरान किसानों को 2 घंटे अतिरिक्त बिजली भी दी जा रही है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में जुड़े मौसम विभाग के विशेषज्ञों ने जानकारी दी कि पूर्वानुमान के अनुसार आगामी दिनों में बहुत ज्यादा तापमान बढ़ने की संभावना नहीं है। हालांकि दक्षिण हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में तापमान (summer) में वृद्धि देखने को मिल रही है। अप्रैल, मई व जून माह के दौरान बारिश की भी संभावना है। कुल मिलाकर तापमान में वृद्धि से घबराने की आवश्यकता नहीं है।

गर्मी के मौसम के लिए राज्य सरकार पूरी तरह तैयार

कौशल ने कहा कि आने वाले गर्मी (summer) के मौसम में कृषि मामलों के प्रबंधन के लिए राज्य सरकार पूरी तरह से तैयार है। ग्रीष्मकालीन फसलों पर मौसम की स्थिति के प्रभाव को प्रबंधित करने के लिए राज्य सरकार ने ग्रीष्मकालीन (summer) फसलों के लिए आवश्यक बीज, उर्वरक और कीटनाशकों की समय पर उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एजेंसियों को पहले ही सक्रिय कर दिया है। सरकार नलकूपों के लिए बिजली की निर्बाध आपूर्ति भी सुनिश्चित कर रही है, जिससे किसान फसलों की समय पर सिंचाई कर सकें।