Thursday, January 20, 2022
HomeMob & Techबैंकिंग एप को टारगेट कर रहा एंड्राईड मालवेयर ‘एलियन’ वायरस, पुलिस ने जारी की...

बैंकिंग एप को टारगेट कर रहा एंड्राईड मालवेयर ‘एलियन’ वायरस, पुलिस ने जारी की एडवायजरी

तकनिकी के इस युग में हर कोई  डिजिटल ट्रांजेक्शन कर रहा है .इसलिए साइबर ठग भी डिजिटल तरीके से आपको ठगने की फिराक में रहते है .. फोन कॉल पर किसी से अपनी जानकारी शेयर ना करें , किसी से ओटीपी शेयर ना करें, ऐसी तमाम तरह के निर्देश आपको दिए जाते है ताकि आप साइबर ठगों से बचे रहें और आपका बैंक में रखा पैसा सुरक्षित रह सकें ..लेकिन अब  साइबर अपराधी तकनिकी का पूरा इस्तमाल करके आपका मोबाइल फोन हैक करके  आपके बैंक खातों में सेंध लगाने की फिराक में है ..जिसको लेकर पुलिस ने भी अलर्ट जारी कर एडवायाजरी जारी की है .

बैंकिंग एप का इस्तमाल करने वाले सावधान

आपका मोबाइल और बैंक एप्लीकेशन हैकर के निशाने पर

एंड्राईड मालवेयर एलियन वायरस की मोबाइल में एंट्री कराकर किया जा सकता है आपका मोबाइल फोन हैक ,

पुलिस ने हैकर्स से बचने के लिए जारी की एडवयाजरी ,

 

रेवाड़ी पुलिस ने बैंकिंग एप्लीकेशन को टारगेट कर रहे एंड्रोइड मालवेयर ‘एलियन’ से बचने के लिए एड्वाइजारी जारी की है। साथ ही साइबर एक्स्पर्स ने कहा है कि एक नया एंड्राईड मालवेयर ‘एलियन’ जो एंड्राईड डिवाईस और अन्य 200 एपलीकेशन पर टारगेट कर रहा है, जिन एप को ये वायरस टारगेट कर रहा है उसमें  ज्यादातर बैंकिंग और वित्तीय एप्लीकेशन है।  और यह एंड्रोइड मालवेयर वायरस इतना शक्तिशाली है जो मोबाइल में  सुरक्षा उपायों को बाईपास करने की क्षमता रखता है,  और पीड़ित के मोबाईल एपलीकेशन को रिमोट एक्सेस कर सकता है। यानी आपका मोबाइल फोन पूरी तरह से हैक हो सकता है और आपके मोबाइल फोन के जरिये हैकर जो चाहे वो कर सकता है.  अब आप समझ सकते है की ये एंड्रोइड वायरस कितना खतरनाक साबित हो सकता है ..

ये एलियन मालवेयर वायरस कहाँ से आया और इसका इस्तमाल कैसे हो रहा है …ये समझना भी जरुरी है ..पुलिस के साइबर एक्स्पर्स के मुताबिक   एलियन मालवेयर जनवरी, 2020 से भूमिगत बाजारों में किराए पर उपलब्ध है।  हैकर इस वायरस को खरीदकर लोगों को निशाना बनाते है .

एंड्राईड मालवेयर फिशिंग साईटों के माध्यम से वितरित किया जा रहा है, जैसे लोगों को बरगलाकर फर्जी वेबसाईट या कोराना एपलिकेशन को डाउनलोडिंग कराकर .

एक अन्य तरीका ये भी है जैसे एस0एम0एस0 के द्वारा लिंक भेजकर और उस लिंक पर क्लिक करने से मालवेयर से आपका मोबाइल संक्रमित हो जाता है और फिर पीड़ित की संपर्क सूची यानी (Contact list) को स्वचालित एकत्रित कर लेता है और उस सूची का उपयोग मालवेयर को फैलाने के लिए किया जाता है।

जब पीडित के मोबाईल पर मालवेयर इंस्टाल हो जाता है,तो वह कीलोगिंग, रिमोट एक्सेस, एस0एम0एस0 एक्सेस, डिवाईस, नोटिफिकेशन, काल फार्वडिंग, एप्लिकेशन इंस्टालेशन और अन्य सभी गतिविधियों को करने की अनुमति दे देता है।  जिससे हैकर यानी साइबर ठग ऑनलाइन बैंकिंग के पासवर्ड और ओटीपी को आसानी से चोरी करके ठगी कर सकते है .

ऐसे में सवाल उठाता है की आखिर कैसे एलियन मालवेयर के अटैक से बचें ….

सबसे पहले जरुरी है की आप किसी भी अप्रकाशित साईटस  और अन्य किसी भी एस0एम0एस0 से प्राप्त लिंक से एपलिकेशन इंस्टाल ना करें।

आपको यह भी सलाह दी जाती है कि बाहरी स्त्रोतों से एपलिकेशन इंस्टाल करने से बचने के लिए अपने एंड्राईड फोन सैंटिग को विकल्प के रूप में रखें।

मालवेयर इंफेक्शन से बचने के लिए अपने एंड्राईड फोन में एंटी मालवेयर सॉफ्टवेयर इस्तेमाल कर सकते है।

और सबसे जरुरी की  एस0एम0एस,  ईमेल या किसी अन्य माध्यमों से भेजे गए किसी भी संदिग्ध लिंक पर क्लिक ना करे।   अगर आपने कोई गलती की तो उसका खामियाजा आपको उठाना पड़ सकता है.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments