Friday, January 21, 2022
HomeRewariरेवाड़ी जिले में सर्द मौसम में स्वास्थ्य सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन ने...

रेवाड़ी जिले में सर्द मौसम में स्वास्थ्य सुरक्षा के मद्देनजर प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी


दिनोंदिन बढ़ रही सर्दी के मद्देनजर जिला प्रशासन की ओर से आमजन को स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति जागरूक रहने के लिए सरकार की ओर से जारी की गई एडवाइजरी की अनुपालना करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। जिलाधीश यशेन्द्र सिंह ने सर्द मौसम के मद्देनजर जिलावासियों के लिए सर्दी के मौसम में बचाव संबंधी एडवाइजरी जारी की है। साथ ही उन्होंने संबंधित अधिकारियों को स्थिति पर नजर रखने व जरूरत के अनुसार कदम उठाने के निर्देश जारी किए हैं।
 

डीसी यशेन्द्र सिंह ने सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशानुसार प्रदेश में चल रहे सर्द मौसम के मद्देनजर जिलावासियों को सर्दी से बचाव के लिए जरूरी सावधानी बरतने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि जहां तक संभव हो, चारदीवारी के भीतर रहना चाहिए ताकि सर्द हवाओं से बचाव हो सके। मीडिया तंत्र के माध्यम से मौसम संबंधी जानकारी निरंतर लेते रहें। अपने आसपास रहने वाले अकेले व्यक्तियों, विशेषकर वृद्धजनों की देखरेख करें। घर, रहने के कमरे में सर्दी से बचाव के लिए संभावित उपाय जरूर सुनिश्चित करें। इसके लिए गर्म खाद्य एवं पेय पदार्थों तथा गर्म कपड़ों का अधिक से अधिक इस्तेमाल करें।

 

घर से बाहर निकलें तो बरतें सावधानी :
जिलाधीश यशेन्द्र सिंह ने कहा कि घर से बाहर निकलते समय मफलर व टोपी आदि का इस्तेमाल करें। सर्द हवाओं से बचने के लिए सिर को ढककर रखें। शरीर को गीला न रहने दें और गीले होने पर कपड़ों को तुरंत बदलें। शरीर को गर्म रखने के लिए पौष्टिक भोजन करें। शरीर का तापमान कम होने अथवा असामान्य संकेत दिखाई दें तो तुरंत चिकित्सक से सलाह लें।

 

रैन बसेरा जरूरतमंद लोगों के लिए सशक्त आश्रय :
डीसी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिला में रैन बसेरा की स्थिति बिल्कुल सही रखी जाए और इसमें आने वाले व्यक्तियों को प्रभावी ढंग से आश्रय दिया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी बेघर व्यक्ति खुले में सोने को मजबूर न हो। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को व्यक्तिगत रूप से शहर का, विशेषकर बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन व अस्पतालों आदि का दौरा करने को कहा। उन्होनें कहा कि दौरा करने वाले अधिकारी अपने साथ पर्याप्त संख्या में कंबल भी साथ रखें ताकि बाहर खुले में मिलने वाले लोगों को धर्मशाला या रैन बसेरा में स्थानांतरित करते समय उन्हें कंबल दिए जा सकें। उन्होंने शहर की गैर सरकारी संस्थाओं से भी आह्वïन किया है कि वे जरूरतमंद व्यक्तियों की मदद के लिए कंबल आदि वितरित करें और उन्हें सर्दी से बचाने के लिए हरसंभव उपाय करें।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments