रेवाड़ी जिला के 5 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों को मिला Model Culture School का दर्जा

0
6
Model Culture School

Model Culture School: हरियाणा सरकार मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में प्रदेश में शिक्षा के स्तर में और अधिक सुधार लाने के लिए निरंतर प्रयासरत है। प्रदेश में विद्यार्थियों के शैक्षणिक स्तर, बौद्धिक विकास, शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार, कौशल विकास और नवाचार पर विशेष बल दिया जा रहा है।

इसी कड़ी में सरकार ने प्रदेशभर के 67 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा देने का निर्णय लिया है, जिनमें रेवाड़ी जिला के बावल, जाटूसाना, खोल, नाहड़ व रेवाड़ी खंड के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय शामिल हैं। डीसी राहुल हुड्डा ने जिला के पांच राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा दिए जाने पर खुशी जाहिर करते हुए विद्यालयों के प्राचार्यों व विद्यार्थियों को बधाई दी।

Model Culture School की संख्या 138 से बढक़र 205

उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार की ओर से प्रत्येक खंड में एक मॉडल संस्कृति स्कूल बनाया हुआ है। इन मॉडल संस्कृति स्कूलों में विद्यार्थियों को सीबीएसई पैटर्न आधार पर पढ़ाई कराई जा रही है। इसी के अंतगर्त प्रदेश में 67 स्कूलों को मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा दिया गया हैं। प्रदेश में अब मॉडल संस्कृति स्कूलों की संख्या 138 से बढक़र 205 हो गई है।

रेवाड़ी के इन राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को मिला मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा

प्रदेश सरकार की ओर से रेवाड़ी जिला के खंड बावल के जीएसएसएस नांगल तेजू, खंड जाटूसाना के जीएसएसएस जाटूसाना, खंड खोल के जीएसएसएस बीकानेर, खंड नाहड़ के एसजे जीएसएसएस नाहड़ तथा खंड रेवाड़ी के जीएसएसएस कुंड को मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा दिया गया है।

 

इनके साथ ही जिला हिसार व करनाल के 6-6, जिला भिवानी, जींद, कुरूक्षेत्र व सोनीपत के 5-5, जिला गुरुग्राम , महेंद्रगढ़ व रोहतक के 4-4, जिला पलवल व यमुनानगर के 3-3, जिला अंबाला, चरखी दादरी, कैथल व पानीपत के 2-2 तथा जिला फरीदाबाद, फतेहाबाद, झज्जर व सिरसा के 1-1 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को मॉडल संस्कृति स्कूल का दर्जा प्रदान किया गया है।