सीएम विंडो की समीक्षा बैठक में डीसी ने पंचायत अधिकारियों को लगाईं फटकार , कहा शिकायतों के निवारण में देरी की तो होगी विभागीय कार्रवाई

रेवाड़ी – आमजन की समस्याओं के जल्द निपटान के उद्देश्य के साथ सीएम विंडो की सरकार ने शुरुआत की थी , लेकिन सीएम विंडो पर मिलने वाली शिकायतों को कई विभाग गंभीरता से नहीं ले रहे है . यही वजह है की आज जिलाधीश यशेंद्र सिंह ने सीएम विंडो की समीक्षा बैठक में कड़े लहजे में सबंधित विभागों के अधिकारियों को कहा है की जनता की शिकायतों का निवारण पहली प्राथमिकता होनी चाहिए . उन्होंने पंचायत विभाग के अधिकारियों को फटकार लगा कहा की अगर लंबित शिकायतों का जल्द निवारण नहीं होता है तो विभागीय कार्रवाई के लिए भी तैयार रहें . उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने पंचायत विभाग की सीएम विंडो पर लम्बित शिकायतों के निवारण करने के लिए खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी व तहसीलदार को निर्देश दिए है कि जो जमीनों के मामले लम्बित है, उनकी निशानदेही कर रिपोर्ट दें, ताकि शिकायतों को डिस्पोज किया जा सकें।

उपायुक्त यशेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को लघु सचिवालय सभागार में सीएम विंडो, सरल पोर्टल, ई-टिकटिंग, सोशल मीडिया की विभागवार समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सीएम विंडो पर शिकायत दर्ज होते ही उसका संज्ञान लें और तय समय सीमा में निवारण करें।  बैठक में बताया गया कि सीएम विंडो पर कुल 14 हजार 175 शिकायते प्राप्त हुई है जिनमें से 13 हजार 926 शिकायतो का निपटान कर दिया गया है तथा 249 शिकायतें लम्बित है, जिन पर कार्य किया जा रहा है। सीएम विंडो पर 110 शिकायतें ओवर डयू चल रही है, उन पर तुरंत कार्यवाही कर उनकी रिपोर्ट भेजें। सीएम विंडों पर आने वाली शिकायतों में मुख्य रूप से डीडीपीओ की 26, बीडीपीओ नाहड़ 15, बीडीपीओ रेवाड़ी 13, बीडीपीओ जाटूसाना 9, एलडीएम पीएनबी रेवाड़ी 8, बीडीपीओ डहीना 7, सचिव एमसी रेवाड़ी 6, बीडीपीओ बावल, डीडीए व जिला नाजर की 4-4 शिकायतें लम्बित है।

डीसी ने सरल पोर्टल की समीक्षा करते हुए कहा कि सरल पोर्टल पर अंधिकांश पुलिस विभाग, ट्रांसपोर्ट, स्वास्थ्य, अनुसूचित जाति एंव पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, बिजली विभाग, नवीनीकरण एवं ऊर्जा विभाग, श्रम विभाग, महिला एवं बाल विकास, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, राजस्व विभाग, सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के कार्य लंबित है।  बैठक में एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, एसडीएम कोसली एवं डीडीपीओ कुशल कटारिया, एसडीएम बावल मनोज कुमार, सीटीएम संजीव कुमार, सीएमजीजीए डॉ मृदुला सुद, डीआरओ विजय यादव, जिला समाज कल्याण अधिकारी रेनू बाला, कार्यकारी अभिंयता नीरज दलाल, ईएलसी हवा सिंह, एलडीएम भूपेन्द्र सिंह सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: